9 जनवरी 2018 करेण्ट अफेयर्स

Site Administrator

Editorial Team

09 Jan, 2018

788 Times Read.

कर्रेंट अफेयर्स,


RSS Feeds RSS Feed for this Article



Read this in: English

1) भारत के अब तक के सबसे तेज सुपरकम्प्यूटर “प्रत्यूष” (‘Pratyush’) को 8 जनवरी 2018 को किस संस्थान में स्थापित किया गया है? – इण्डियन इंस्टीट्यूट ऑफ ट्रॉपिकल मीट्रोलॉजी (IITM), पुणे

विस्तार: “प्रत्यूष” (जिसका अर्थ सूर्य होता है) भारत के अब तक के सबसे तेज सुपरकम्प्यूटर का नाम है तथा इसको 8 जनवरी 2018 को पुणे (Pune) स्थित इण्डियन इंस्टीट्यूट ऑफ ट्रॉपिकल मीट्रोलॉजी (Indian Institute of Tropical Meteorology – IITM) में केन्द्रीय विज्ञान एवं प्रौद्यौगिकी मंत्री हर्ष वर्द्धन ने राष्ट्र को समर्पित किया। यह भारत का पहला “मल्टी-पेटाफ्लॉप्स” (“multi-petaflops”) श्रेणी का सुपर कम्प्यूटर है।

“प्रत्यूष” दरअसल तमाम कम्प्यूटर की एक संयुक्त कड़ी (array) है जो अधिकतम 6.8 पेटाफ्लॉप्स (6.8 petaflops) तक की शक्ति तक गणना करने में सक्षम है। एक पेटाफ्लॉप दस लाख बिलियन फ्लोटिंग प्वाइंट गणनाएं प्रति सेकेण्ड (a million billion floating point operations per second) के बराबर होती है तथा यह सुपरकम्प्यूटर की गणना क्षमता को समझने की इकाई होती है। हालांकि “प्रत्यूष” की कुल गणना क्षमता में से 2.8 पेटाफ्लॉप्स को नोएडा स्थित National Centre for Medium Range Weather Forecast में स्थापित किया जायेगा।

इस सुपरकम्प्यूटर का इस्तेमाल देश में मानसून की अधिक बेहतर भविष्यवाणी के अलावा तमाम प्राकृतिक आपदाओं जैसे सुनामी, चक्रवाती तूफान, भूकंप, आदि की अधिक कार्यकुशल निगरानी के लिए किया जायेगा। इसके अलावा वायु की गुणवत्ता, बिजली गिरने, मत्स्य उद्योग, गर्म व ठण्डी तरंगों के अवलोकन तथा बाढ़ व सूखे की तैयारियों में इसका इस्तेमाल किया जायेगा।

इण्डियन इंस्टीट्यूट ऑफ ट्रॉपिकल मीट्रोलॉजी (IITM) द्वारा जारी जानकारी के अनुसार “प्रत्यूष” मौसम को समर्पित दुनिया की चौथा सबसे तेज सुपरकम्प्यूटर है तथा इसका स्थान जापान, अमेरिका और ब्रिटेन के सुपरकम्प्यूटरों के बाद है। इसके साथ ही इस सुपरकम्प्यूटर के साथ भारत का स्थान विश्व के 500 सबसे तेज सुपरकम्प्यूटरों की सूची (Top500 list) में 300 के स्तर से घट कर अब सर्वोच्च 30 में आ गया है।

………………………………………………………………………

2) भारत (India) और सऊदी अरब (Saudi Arabia) ने वार्षिक हज समझौते (Annual Haj Agreement 2018) पर 7 जनवरी 2018 को मक्का (Mecca) में हस्ताक्षर किए। इस समझौते में सऊदी सरकार ने भारत द्वारा अपने हज-यात्रियों को समुद्री मार्ग से भी भेजने की व्यवस्था पुन: शुरू करने की मांग को स्वीकार कर लिया है। भारत से हज-यात्रियों को समुद्री मार्ग से भेजने की व्यवस्था किस वर्ष बंद कर दी गई थी? – 1995 में

विस्तार: उल्लेखनीय है कि भारत के हज-यात्री 1994 तक मुंबई (Mumbai) से जेद्दाह (Jeddah) तक समुद्री मार्ग से भी जाया करते थे। लेकिन 1995 से इस व्यवस्था को समाप्त कर दिया गया। अब 7 जनवरी 2018 को भारत और सऊदी अरब के बीच हुए द्विपक्षीय हज समझौते में सहूदी अरब सरकार ने भारत द्वारा अपने हज-यात्रियों को समुद्री मार्ग से भी भेजने की व्यवस्था पुन: शुरू करने की मांग को स्वीकार कर लिया है। यह समझौता भारत के केन्द्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी (Mukhtar Abbas Naqvi) और सऊदी अरब के हज व उमरा मंत्री डॉ. मोहम्मद सालेह बिन ताहेर बेन्तेन (Dr Mohammad Saleh bin Taher Benten) के बीच हस्ताक्षरित किया गया।

भारत सरकार का इस सम्बन्ध में मानना है कि हज-यात्रियों को समुद्री मार्ग से भेजने में यात्रा खर्च को काफी कम किया जा सकेगा तथा यह फैसला गरीब यात्रियों के लिए बेहद क्रांतिकारी और लाभकारी सिद्ध होगा।

समुद्री मार्ग से हज-यात्रियों को भेजने का एक पहलू यह भी है कि वर्तमान जहाज काफी आधुनिक तथा उच्च यात्री क्षमता वाले होते हैं जिनमें एक बार में 4 से 5 हजार यात्रियों को आसानी से ले जाया जा सकता है। ये जहाज मुम्बई से जेद्दाह की लगभग 2,300 समुद्री मील (nautical miles) की यात्रा 3 से 4 दिन में पूरी कर सकते हैं जबकि पुराने जहाज इस यात्रा में 12 से 15 दिन लगा देते थे।

………………………………………………………………………

3) अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा (NASA) के उस प्रसिद्ध अंतरिक्ष-यात्री (astronaut) का क्या नाम था जिनकी 5 जनवरी 2018 को मृत्यु हो गई तथा जो चन्द्रमा पर की गई चहलकदमी के अलावा अंतरिक्ष में सबसे अधिक समय बिताने के विश्व कीर्तिमान के लिए प्रसिद्ध थे? – जॉन यंग (John Young)

विस्तार: अमेरिका के सुप्रसिद्ध अंतरिक्ष-यात्री जॉन यंग (John Young) का 5 जनवरी 2018 को 87 वर्ष की आयु में निधन हो गया। वे छह बार अंतरिक्ष में गए थे तथा वे नासा की पहली शटल उड़ान (first shuttle flight) के कमाण्डर भी थे। उनसे जुड़ा एक और अनोखा तथ्य यह था कि वे नासा के एकमात्र ऐसे अंतरिक्ष-यात्री थे जिन्होंने जेमिनी (Gemini), अपोलो (Apollo) और शटल कार्यक्रम (shuttle programme) की उड़ानों में भाग लिया था।

वे 1972 में चन्द्रमा में गए अपोलो 16 मिशन (Apollo 16) के कमाण्डर थे तथा अंतरिक्ष में सर्वाधिक समय बिताने का उनका कीर्तिमान काफी समय तक कायम रहा था।

………………………………………………………………………

4) सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का गोल्डन ग्लोब (Golden Globe) पुरस्कार जीतने वाला पहला एशियाई तथा भारतीय-अमेरिकी मूल का व्यक्ति कौन बना है? – अजीज अंसारी (Aziz Ansari)

विस्तार: अजीज अंसारी (Aziz Ansari), जोकि चेन्नई (Chennai) से अमेरिका गए अप्रवासी भारतीयों की संतान हैं, ने 7 जनवरी 2018 को नया इतिहास रचा जब वे सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का गोल्डन ग्लोब पुरस्कार जीतने वाले पहले एशियाई तथा भारतीय-अमेरिकी मूल के व्यक्ति बन गए। उन्हें यह पुरस्कार टीवी हास्य श्रृंखला “मास्टर ऑफ नन” (‘Master of None’) में 30-वर्षीय अभिनेता देव पटेल का चरित्र निभाने के लिए मिला है।

दक्षिण कैरोलाइना के कोलम्बिया में जन्मे अजीज अंसारी के माता-पिता तमिलनाडु से अमेरिका में जाकर बसे हेल्थकेयर प्रोफेशनल हैं। अजीज न्यूयॉर्क यूनीवर्सिटी के स्टर्न स्कूल ऑफ बिज़नेस में अपनी पढ़ाई कर रहे थे जब उन्होंने अपने करियर की दिशा बदलते हुए स्टैण्ड अप कॉमेडियन बनने का निर्णय लिया तथा इसके बाद वे बिग एप्पल क्लब तथा कई साप्ताहिक शो में अपनी क्षमता प्रदर्शित करने लगे।

………………………………………………………………………

5) किस फिल्म को 2018 के गोल्डन ग्लोब्ज़ (2018 Golden Globes) पुरस्कार समारोह में सर्वश्रेष्ठ फिल्म (Best Film) का पुरस्कार प्रदान किया गया? – “थ्री बिल्बोर्ड्स आउटसाइड एबिंग, मिसूरी” (“Three Billboards Outside Ebbing, Missouri”)

विस्तार: बलात्कार के बाद की स्थितियों पर बनी फिल्म “थ्री बिल्बोर्ड्स आउटसाइड एबिंग, मिसूरी” (“Three Billboards Outside Ebbing, Missouri”) को 7 जनवरी 2018 को सम्पन्न हुए गोल्डन ग्लोब्ज़ पुरस्कार समारोह में सर्वश्रेष्ठ फिल्म (ड्रामा श्रेणी) का गोल्डन ग्लोब प्रदान किया गया। इसी फिल्म में अभिनय के लिए फ्रांसेस मैकडॉरमण्ड (Frances McDormand) को सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री (Best Actress) का पुरस्कार मिला जबकि फिल्म “डार्केस्ट ऑवर” (“Darkest Hour”) में अभिनय के लिए अभिनेता गैरी ओल्डमैन (Gary Oldman) को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता (Best Actor) का गोल्डन ग्लोब प्रदान किया गया।

फिल्म “द शेप ऑफ वॉटर” (“The Shape Of Water”) के निर्देशन के लिए सर्वश्रेष्ठ निर्देशक (Best Director) का गोल्डन ग्लोब गुलेर्मो डेल टोरो (Guillermo Del Toro) को प्रदान किया गया। वहीं स्टर्लिंग के. ब्राउन (Sterling K. Brown) ने गोल्डन ग्लोब पुरस्कारों में एक अध्याय लिखा जब वे किसी टीवी सीरीज़ के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार जीतने वाले पहले अफ्रीकी-अमेरिकी अभिनेता (first African-American actor) बन गए। उन्हें यह पुरस्कार टीवी सीरीज़ “ड्रामा फॉर दिस इज़ अस” (“Drama for This Is Us”) के लिए मिला।

वहीं सुप्रसिद्ध टॉक शो प्रस्तोता ओप्रा विनफ्रे (Oprah Winfrey) को सेसिल बी. डिमिले लाइफटाइम एचीवमेण्ट पुरस्कार (Cecil B DeMille Lifetime Achievement award) प्रदान किया गया।

………………………………………………………………………

| Current Affairs | Current Affairs 2018 | IAS | SBI | IBPS | Banking | Bank PO | Banking Awareness | Daily Current Affairs | Hindi Current Affairs | Hindi GK| करेण्ट अफेयर्स | सामयिकी, समसामायिकी | 2018 समसामायिकी | 2018 करेण्ट अफेयर्स | जनवरी 2018 |

 


Responses on This Article

© Nirdeshak. All rights reserved.