5 अगस्त 2017 करेण्ट अफेयर्स

Site Administrator

Editorial Team

05 Aug, 2017

1567 Times Read.

कर्रेंट अफेयर्स,


RSS Feeds RSS Feed for this Article



Read this in: English

1) केन्द्र सरकार द्वारा 4 अगस्त 2017 को जारी सूचना के अनुसार 22 कम्पनियों का एक नया सरकारी एक्सचेंज ट्रेडेड फण्ड (ETF) हाल ही में स्थापित किया गया है जिसमें ओएनजीसी, भारतीय स्टेट बैंक और इण्डियन ऑयल जैसे सार्वजनिक उपक्रमों के अलावा एल एण्ड टी और आईटीसी जैसे निजी उपक्रमों को भी स्थान दिया गया है। इस नए ईटीएफ का नाम क्या रखा गया है? – भारत-22

विस्तार: “भारत-22” (“Bharat-22”) केन्द्र सरकार द्वारा हाल ही में स्थापित किए गए उस नए सरकारी एक्सचेंज ट्रेडेड फण्ड (Exchange Traded Fund – ETF) का नाम है जिसमें कुल 22 उपक्रमों को स्थान दिया गया है। इन 22 उपक्रमों में सार्वजनिक क्षेत्र की ब्ल्यू चिप कम्पनियों, सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों तथा Specified Undertaking of Unit Trust of India (SUUTI) के तहत आने वाले निजी उपक्रमों को भी शामिल किया गया है।

इसमें कुल नौ सार्वजनिक उपक्रमों को शामिल किया गया है जिनमें ओएनजीसी (ONGC – 5.3%), पॉवर ग्रिड कॉरपोरेशन (7.9%), कोल इण्डिया (3.3%), इण्डियन ऑयल (4.4%) जैसे प्रमुख उपक्रम शामिल हैं। इसके अलावा भारतीय स्टेट बैंक (8.6%) समेत कुल चार बैंकों को स्थान दिया गया है। वहीं एल एण्ड टी (L&T – 17.1%), आईटीसी (ITC – 15.2%), एक्सिस बैंक (7.7%) जैसे उपक्रम जिनमें SUUTI की होल्डिंग है, को भी स्थान दिया गया है।

अन्य उपक्रम जो भारत-22 में शामिल हैं – पीजीसीआईएल (PGCIL – 7.9%), एनटीपीसी (NTPC – 6.7%), भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (4.4%), नाल्को (NALCO – 4.4%), गेल (GAIL -3.7%), भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (3.3%), इंजीनियर्स इण्डिया लिमिटेड, एनबीसीसी, एनटीपीसी, एनएचपीसी, एसजेवीएनएल, एनएलसी, पीएफसी, रूरल इलेक्ट्रिफिकेशन कॉरपोरेशन, इण्डियन बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा।

उल्लेखनीय है कि सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों का ईटीएफ (CPSE ETF) केन्द्र सरकार ने स्थापित किया था तथा इसमें 10 उपक्रमों को शामिल किया था – ओएनजीसी, कोल इण्डिया, गेल, इण्डियन ऑयल, ऑयल इण्डिया, पॉवर फाइनेंस कॉरपोरेशन, भारत इलेक्ट्रॉनिक्स, रूरल इलेक्ट्रिफिकेशन कॉरपोरेशन, इंजीनियर्स इण्डिया लिमिटेड और कण्टेनर कॉरपोरेशन ऑफ इण्डिया।

…………………………………………………………………….

2) केन्द्र सरकार ने धोखाधड़ियों को रोकने के उद्देश्य से 4 अगस्त 2017 को मृत्यु पंजीकरण (Death registration) के लिए आधार (Aadhaar) को अनिवार्य करने की घोषणा की। यह नया नियम कब से प्रभाव में आयेगा? – 1 अक्टूबर 2017

विस्तार: केन्द्रीय गृह मंत्रालय द्वारा 4 अगस्त 2017 को जारी अधिसूचना के अनुसार 1 अक्टूबर 2017 से मृत्यु प्रमाण पत्र के आधार संख्या को अनिवार्य कर दिया गया है। आधार को अनिवार्य करने का मुख्य प्रयोजन मृतक की पहचान सुनिश्चित करना है ताकि उसकी पहचान सम्बन्धी कोई धोखाधड़ी बाद में संभव न हो।

इस नियम को जम्मू व कश्मीर, असम व मेघालय के अलावा सभी राज्यों में लागू किया जायेगा तथा इन राज्यों के लिए नियमों की घोषणा बाद में की जायेगी।

हालांकि बाद में केन्द्र सरकार ने यह भी स्पष्ट किया कि मृत्यु पंजीकरण के लिए आधार अनिवार्य नहीं है और आधार न होने की स्थिति में मृतक के परिजनों को एक “अण्डरटेकिंग” जमा करनी होगी।

…………………………………………………………………….

3) कौन सा देश पहला खाड़ी देश बन गया है जिसने अपने यहाँ रहने वाले कुछ विदेशी नागरिकों को स्थायी निवासिता (permanent residency) की सुविधा दिलाने का प्रावधान करने के लिए 2 अगस्त 2017 को एक ऐतिहासिक विधेयक को मंजूरी प्रदान कर दी? – कतर (Qatar)

विस्तार: कतर (Qatar) की सरकार ने एक ऐतिहासिक कदम उठाते हुए यहाँ रह रहे कुछ चुनिंदा विदेशी नागरिकों को स्थायी निवासिता की सुविधा प्रदान करने का निर्णय लिया है। इस सम्बन्ध में देश की संसद ने 2 अगस्त 2017 को एक विधेयक पारित कर दिया। इस कदम से कतर खाड़ी के देशों (Gulf countries) में अलग पहचान स्थापित करने में सफल हो सकता है तथा विदेशियों को और अधिक आकर्षित कर सकता है, जो फिलहाल काफी बड़ी संख्या में इस धनी देश में रहते हैं।

इस नए कानून के तहत यह सुविधा हासिल करने वाले विदेशी नागरिकों को लगभग कतारी नागरिकों का दर्जा हासिल होगा तथा उन्हें कल्याणकारी राज्य की तमाम सुविधाएं जैसे शिक्षा और स्वास्थ्य-सुविधाएं हासिल हो सकेंगी।

इसके अलावा उन्हें सैन्य तथा नागरिक सेवाओं में भर्ती में स्थानीय नागरिकों के बाद वरीयता भी मिलेगी। उन्हें सम्पत्ति हासिल करने तथा बिना किसी स्थानीय पार्टनर के वाणिज्यिक गतिविधियों के परिचालन का अधिकार मिलेगा। हालांकि ऐसे विदेशी नागरिकों को नागरिकता हासिल नहीं हो सकेगी।

उल्लेखनीय है कि देश में विदेशी निवेश की गति बढ़ाने तथा पेट्रोलियम उत्पादों पर देश की निर्भरता को कम करने के उद्देश्य से कतर के शासक शेख तमीम बिन हमद अल थानी (Sheikh Tamim bin Hamad Al Thani) ने देश को नए सिरे से प्रयास करने का अह्वान 22 जुलाई 2017 को किया था। यह आह्वान सऊदी अरब तथा उसके सहयोगी देशों द्वारा हाल ही में कतर के बहिष्कार करने की घोषणा के बाद किया गया था।

…………………………………………………………………….

4) केन्द्र सरकार ने अगस्त 2017 के दौरान सार्वजनिक क्षेत्र के किस उपक्रम में अपनी 5.5% हिस्सेदारी का विनिवेश ऑफर फॉर सेल माध्यम से किया? – हिन्दुस्तान कॉपर लिमिटेड (HCL)

विस्तार: सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम (PSU) हिन्दुस्तान कॉपर लिमिटेड (Hindustan Copper Limited – HCL) में अपनी 5.5% हिस्सेदारी का विनिवेश कर केन्द्र सरकार ने 327 करोड़ रुपए अर्जित किए। यह विनिवेश ऑफर फॉर सेल (Offer for Sale – OFS) माध्यम से 2 और 3 अगस्त को किया गया। हालांकि केन्द्र सरकार इस विनिवेश के द्वारा इस उपक्रम में 8% हिस्सेदारी बेचने की योजना ले कर चल रही थी लेकिन संस्थागत निवेशकों (institutional investors) की तरफ से अपेक्षाकृत रुखे रवैये के चलते विनिवेश के आकार को कम रखा गया।

इस विनिवेश में 2 अगस्त 2017 को जहाँ संस्थागत निवेशकों को हिस्सेदारी खरीदने का मौका दिया गया वहीं 3 अगस्त को खुदरा निवेशकों (retail investors) को यह मौका प्रदान किया गया। यह विनिवेश केन्द्र सरकार द्वारा वर्ष 2017-18 के केन्द्रीय बजट में घोषित महात्वाकांक्षी विनिवेश लक्ष्य को ध्यान में रखकर किया गया।

…………………………………………………………………….

5) अमेरिकी स्टॉक एक्सचेंज डाओ जोन्स (Dow Jones) ने 2 अगस्त 2017 को कौन से स्तर पर पहली बार हासिल किया? – 22,000 अंक

विस्तार: अमेरिकी के सुप्रसिद्ध स्टॉक एक्सचेंज डाओ जोन्स के इण्डस्ट्रियल एवरेज सूचकांक (Dow Jones industrial average) ने 2 अगस्त 2017 को 22,000 अंकों का स्तर पहली बार पार किया। इस वर्ष प्रमुख अमेरिकी कम्पनियों के शानदार नतीजों, ब्याज दरों के कम रहने तथा विकसित अर्थव्यवस्थाओं के दुनिया भर में अपेक्षाकृत बेहतर प्रदर्शन के चलते अमेरिकी शेयर बाजार काफी ऊँचाई पर पहुँच गया है।

उल्लेखनीय है कि वर्ष 2009 से अमेरिकी शेयर बाजारों में दर्ज शानदार वृद्धि से यहाँ के निवेशकों को काफी लाभ हुआ है। वर्ष 2009 की शुरूआत में डाओ जोन्स का इण्डस्ट्रियल एवरेज सूचकांक 7,063 अंकों पर था।

…………………………………………………………………….

| Current Affairs | Current Affairs 2017 | IAS | SBI | IBPS | Banking | Bank PO | Banking Awareness | Daily Current Affairs | Hindi Current Affairs | Hindi GK| करेण्ट अफेयर्स | सामयिकी, समसामायिकी | 2017 समसामायिकी | 2017 करेण्ट अफेयर्स | अगस्त 2017 |


Responses on This Article

© Nirdeshak. All rights reserved.