30-31 दिसम्बर 2017 करेण्ट अफेयर्स

Site Administrator

Editorial Team

31 Dec, 2017

637 Times Read.

कर्रेंट अफेयर्स,


RSS Feeds RSS Feed for this Article



Read this in: English

1) केन्द्र सरकार ने भारतीय सांस्कृतिक सम्बन्ध परिषद (Indian Council of Cultural Relations – ICCR) के नए अध्यक्ष (President) के पद पर किसकी नियुक्ति 29 दिसम्बर 2017 को की? – विनय सहस्रबुद्धे (Vinay Sahasrabuddhe)

विस्तार: विनय सहस्रबुद्धे (Vinay Sahasrabuddhe), जोकि भारतीय जनता पार्टी (BJP) के उपाध्यक्ष (vice-president) तथा राज्य सभा के सदस्य हैं, को 29 दिसम्बर 2017 को केन्द्र सरकार ने भारतीय सांस्कृतिक सम्बन्ध परिषद (Indian Council of Cultural Relations – ICCR) के नए अध्यक्ष के तौर पर नियुक्त किया। वे इस पद पर लोकेश चन्द्र (Lokesh Chandra) का स्थान लेंगे, जिन्हें राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबन्धन (NDA) सरकार ने अक्टूबर 2014 में संस्था का अध्यक्ष नियुक्त किया था तथा जिन्होंने अपना तीन-वर्षीय कार्यकाल पूरा कर लिया है।

सहस्रबुद्धे रामभाऊ मल्गी प्रबोधिनी (Rambhau Mhalgi Prabodhini) के उपाध्यक्ष भी हैं, जोकि निर्वाचित प्रतिनिधियों तथा स्वयंसेवी सामाजिक कार्यकर्ताओं के प्रशिक्षण व अनुसंधान हेतु दक्षिण एशिया की एकमात्र अकादमिक संस्था है।

उल्लेखनीय है कि भारतीय सांस्कृतिक सम्बन्ध परिषद (ICCR) की स्थापना वर्ष 1950 में देश के पहले शिक्षा मंत्री मौलाना अबुल कलाम आज़ाद ने की थी। इसका मुख्य उद्देश्य भारत के विदेशी सम्बन्धों के नीति-निर्धारण में अहम भूमिका निभाना तथा अन्य देशों से भारत के सम्बन्धों को सुदृढ़ करने के लिए उपयुक्त कदमों को क्रियान्वित करना है।

…………………………………………………………

2) फलस्तीन के पाकिस्तान में तैनात राजदूत (Palestinian Ambassador to Pakistan) का क्या नाम है जिन्हें आतंकी संगठन जमात-उद-दावा (JuD) के प्रमुख हाफिज़ सईद (Hafiz Saeed) के साथ मंच साझा करने के चलते फलस्तीनी प्राधिकरण ने वापस बुलाने का निर्णय लिया? – वालिद अबु अली (Walid Abu Ali)

विस्तार: फलस्तीनी प्राधिकरण (Palestinian Authority) ने फलस्तीन के पाकिस्तान में तैनात राजदूत (Palestinian Ambassador to Pakistan) वालिद अबु अली (Walid Abu Ali) को वापस बुलाने का निर्णय लिया है क्योंकि आतंकी संगठन जमात-उद-दावा (Jamaat-ud-Dawa – JuD) के प्रमुख हाफिज़ सईद (Hafiz Saeed) के साथ मंच साझा करने की उनकी फोटो सामने आई थी। फलस्तीनी प्राधिकरण के इस निर्णय को भारत में फलस्तीन के राजदूत अदनान अबु अल हैजा (Adnan Abu Al Haija) ने 30 दिसम्बर 2017 को भारत सरकार को सूचित किया।

उल्लेखनीय है कि चरमपंथी इस्लामी मोर्चे दिफा-ए-पाकिस्तान (Difa-e-Pakistan) ने 29 दिसम्बर 2017 को रावलपिण्डी (Rawalpindi) के लियाकत-बाग में एक विशाल रैली का आयोजन किया था जिसमें भारत-विरोधी दुर्दांत आतंकी संगठन जमात-उद-दावा के प्रमुख हाफिज़ सईद के साथ फलस्तीन के पाकिस्तान में तैनात राजदूत वालिद अबु अली ने मंच साझा किया था तथा उनके बगल में बैठी हुई उनकी तमाम तस्वीरें वायरल हुई थीं। इसके बाद भारत ने इस प्रकरण पर फलस्तीन से अपना तीव्र आक्रोश व्यक्त किया था कि संयुक्त राष्ट्र (UN) द्वारा आतंकी संगठन घोषित किए जमात-उद-दावा के प्रमुख के साथ फलस्तीनी राजदूत क्यों कोई मंच साझा कर रहे हैं?

फलस्तीनी राजदूत का यह कदम भारत को इसलिए और नागवार गुज़रा है क्योंकि कुछ ही दिन पूर्व उसने संयुक्त राष्ट्र महासभा में अमेरिका का विरोध करते हुए येरूशलम को इज़राइल की राजधानी का दर्जा देने वाले एक प्रस्ताव पर फलस्तीन का साथ दिया था।

…………………………………………………………

3) दुनिया की सबसे बड़ी कैटरिंग फर्म कॉम्पास ग्रुप पीएलसी. (Compass Group Plc.) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) का क्या नाम था जिनकी नववर्ष की पूर्व-संध्या पर 31 दिसम्बर 2017 को ऑस्ट्रेलिया के सिडनी में एक विमान दुर्घटना में अपने परिजनों के साथ मृत्यु हो गई? – रिचर्ड कज़िन्स (Richard Cousins)

विस्तार: 58-वर्षीय रिचर्ड कज़िन्स (Richard Cousins) ब्रिटिश कैटरिंग फर्म कॉम्पास ग्रुप पीएलसी. (Compass Group Plc.) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) थे। यह कम्पनी दुनिया की सबसे बड़ी कैटरिंग फर्म है वर्ष 2016 में इसका वैश्विक राजस्व लगभग 19 अरब पाउण्ड (£19 billion) था। 31 दिसम्बर 2017 को हुई एक दुर्घटना में कज़िन्स की अपने परिवार के चार सदस्यों के साथ तब मौत हो गई जब उनको लेकर जा रहा एक सीप्लेन (seaplane) सिडनी नदी (Sydney River) में उतरते समय दुर्घटनाग्रस्त हो गया। इस दुर्घटना में जहाज को उड़ा रहे पायलट गेरथ मॉर्गन की भी मृत्यु हो गई।

उल्लेखनीय है कि रिचर्ड कज़िन्स ने एक समय समस्याओं से ग्रस्त कॉम्पास ग्रुप को लाभकारी कम्पनी में तब्दील करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। 11 साल से समूह का नेतृत्व करने के बाद वे मार्च 2018 में CEO का पद छोड़ने वाले थे।

…………………………………………………………

4) दिसम्बर 2017 के दौरान किस वरिष्ठ नौकरशाह को प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद (PMEAC) में संयुक्त सचिव (Joint Secretary) नियुक्त किया गया? – सुमिता मिश्रा (Sumita Misra)

विस्तार: सुमिता मिश्रा (Sumita Misra) को 26 दिसम्बर 2017 को प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद (Prime Minister’s Economic Advisory Council – PMEAC) में संयुक्त सचिव नियुक्त किया गया। वे 1990 बैच की हरियाणा काडर की भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) अधिकारी हैं तथा उनकी नियुक्ति पाँच वर्ष के लिए की गई है।

प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद का गठन सितम्बर 2017 के दौरान तमाम गंभीर आर्थिक तथा गैर-आर्थिक मुद्दों के विश्लेषण के लिए तथा इन पर प्रधानमंत्री को उचित सलाह देने के लिए की गई थी।

…………………………………………………………

| Current Affairs | Current Affairs 2017 | IAS | SBI | IBPS | Banking | Bank PO | Banking Awareness | Daily Current Affairs | Hindi Current Affairs | Hindi GK| करेण्ट अफेयर्स | सामयिकी, समसामायिकी | 2017 समसामायिकी | 2017 करेण्ट अफेयर्स | दिसम्बर 2017 |


Responses on This Article

© Nirdeshak. All rights reserved.