3 जनवरी 2017 करेण्ट अफेयर्स

Site Administrator

Editorial Team

03 Jan, 2017

1817 Times Read.

कर्रेंट अफेयर्स,


RSS Feeds RSS Feed for this Article



Read this in: English

1) केन्द्र सरकार के उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने 2 जनवरी 2017 को होटलों/रेस्टॉरेण्टों द्वारा वसूले जाने वाले सर्विस चार्जेज़ (service charges) के सम्बन्ध में क्या वक्तव्य जारी किया? – उसने कहा कि इन सर्विस चार्जेज़ को अदा करना ग्राहकों के विवेक पर निर्भर करता है तथा वे इसे अदा करने से इंकार करने का अधिकार रखते हैं

विस्तार: 2 जनवरी 2017 को जारी एक वक्तव्य में उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय (Consumer Affairs Ministry) ने होटलों तथा रेस्टॉरेण्टों में वसूले जाने वाले सर्विस चार्जेज़ के बारे में स्पष्ट किया कि इसका भुगतान करना ग्राहकों के विवेक पर निर्भर करना चाहिए। इस सम्बन्ध में विभाग ने होटलों तथा रेस्टॉरेण्टों को अपने प्रतिष्ठानों में यह स्पष्ट रूप से दर्शाने का निर्देश भी दिया कि “सर्विस चार्जेज़” का भुगतान ग्राहक अपनी इच्छानुसार कर सकता है तथा यदि उसे लगता है कि इनकी सेवा में कोई त्रुटि रही है तो ग्राहक को इसके भुगतान से इंकार करने का अधिकार है।

इस निर्देश को जारी करने के पीछे मुख्य कारण यह है कि कई ग्राहकों ने इस सम्बन्ध में शिकायत की थी कि तमाम होटल/ रेस्टॉरेण्ट उनको प्रदान की जाने वाली “टिप्स” (tips) के एवज में 5 से 20 प्रतिशत तक सर्विस चार्जेज़ बिल मे जोड़ देते हैं तथा ग्राहकों को किसी भी प्रकार की सेवा होने के बावजूद जबरदस्ती यह शुल्क अदा करना होता है।

………………………………………………………….

2) भारत ने लम्बी दूरी की सतह से सतह पर मार करने वाली रणनीतिक मिसाइल अग्नि-4 (Agni-4) का सफल परीक्षण 2 जनवरी 2017 को किया। इस मिसाइल की अधिकतम मारक क्षमता कितनी है? – 4,000 किमी. तक

विस्तार: अग्नि-4 (Agni-4) दो चरण वाली सतह से सतह पर मार करने वाली मिसाइल है जो 4,000 किमी. की दूरी तक मार कर सकती है। यह मिसाइल एक टन तक परमाणु आयुध ले जाने में सक्षम है। इस मिसाइल का सफल परीक्षण ओडीशा तट के पास स्थित अब्दुल कलाम द्वीप से 2 जनवरी 2017 को सफलतापूर्वक सम्पन्न किया गया।

अग्नि-4 का विकास रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) द्वारा किया गया है। इसकी लम्बाई 20 मीटर है तथा इसका कुल भार 17 टन है। इसके दोनों चरणों में ठोस ईंधन (solid propellants) का इस्तेमाल किया गया है।

इस मिसाइल का इससे पूर्व अब तक कुल 5 बार परीक्षण किया जा चुका है तथा यह सभी 5 परीक्षण सफल रहे थे। ये परीक्षण क्रमश: 2011, 2012, 2014 में दो बार तथा 2015 में किए गए थे। उल्लेखनीय है कि भारत ने अभी कुछ ही दिन पूर्व 5,000 किमी. की मारक क्षमता वाली मिसाइल अग्नि-5 (Agni-5) का सफल परीक्षण भी किया था।

………………………………………………………….

3) भारत के सर्वोच्च न्यायालय (Supreme Court) ने 2 जनवरी 2017 को BCCI अध्यक्ष अनुराग ठाकुर और सचिव अजय शिर्के को किस कारण के चलते उनके पदों से हटाने का आदेश जारी कर दिया? – BCCI में प्रशासनिक सुधारों के लिए लोढ़ा समिति की सिफारिशों का अनुपालन न कराना

विस्तार: भारत के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति टी.एस. ठाकुर के नेतृत्व वाली एक पीठ ने 2 जनवरी 2017 को दिए अपने आदेश के माध्यम से भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) और सचिव अजय शिर्के (Ajay Shirke) को उनके पदों से हटा दिया। अपने कड़े आदेश में पीठ ने बोर्ड के अन्य सदस्यों से भी बिना किसी शर्त के यह वादा करने को कहा कि वे लोढ़ा समिति की सिफारिशों का अनुपालन करेंगे।

इसके अलावा सर्वोच्च न्यायालय ने अनुराग ठाकुर को एक कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए उनसे पूछा कि झूठी गवाही व न्यायालय की अवमानना करने के चलते क्यों न उनके खिलाफ न्यायिक कार्रवाई की जाए। अब 19 जनवरी 2017 को न्यायालय इस मामले में अगली सुनवाई पर BCCI में प्रशासनिक सुधारों को आगे ले जाने के लिए प्रशासकों की एक नई टीम के चयन का निर्णय लेगा।

………………………………………………………….

4) भारत में जन्में वह DNA विशेषज्ञ कौन है जिसे ब्रिटिश महारानी द्वारा प्रदान किया जाने वाले नाइटहुड (Knighthood) सम्मान प्रदान किया जायेगा? – शंकर बालसुब्रह्मण्यम (Shankar Balasubramanian)

विस्तार: चेन्नई में जन्में शंकर बालसुब्रह्मण्यम (Shankar Balasubramanian) यूनीवर्सिटी ऑफ कैम्ब्रिज (University of Cambridge) में मैडिसिनल कैमिस्ट्री के प्रोफेसर हैं। उनका चयन वर्ष 2017 की ऑनर्स लिस्ट (New Years’ Honours List 2017) में नाइटहुड सम्मान के लिए किया गया है, जिसके चलते उन्हें “सर” की अत्यंत प्रतिष्ठित पदवी मिल जायेगी।

इस सम्बन्ध में नाइटहुड प्रशस्ति पत्र में कहा गया कि शंकर बालसुब्रह्मण्यम अगली पीढ़ी के डीएनए सिक्वेंसिंग प्रौद्यौगिकी के सह-आविष्कारक हैं। इस तकनीक को जीवविज्ञान व औषधि-विज्ञान के क्षेत्र में पिछले कई दशकों की सबसे बड़ी खोज माना जाता है। बालसुब्रह्मण्यम के कार्य ने बायोइन्फॉर्मेटिक्स के क्षेत्र में एक नए युग का सूत्रपात किया है।

उल्लेखनीय है कि वर्ष 2017 की ऑनर्स लिस्ट में भारतीय मूल के कई अन्य अकादमिक हस्तियों को भी स्थान दिया गया है।

………………………………………………………….

5) बिपिन रावत भारतीय थलसेना (Indian Army) के नए प्रमुख हो गए जब उन्होंने 31 दिसम्बर 2016 को जनरल दलबीर सिंह सुहाग के स्थान पर थलसेना के नए प्रमुख के रूप में पदभार ग्रहण किया। भारतीय थलसेनाध्यक्ष के रूप में उनका क्रम कौन सा है? – 27वाँ

विस्तार: जनरल बिपिन रावत (Gen. Bipin Rawat) भारतीय थलसेना के 27वें प्रमुख बन गए जब उन्होंने 31 दिसम्बर 2016 को यह पद ग्रहण किया। उन्होंने जनरल दलबीर सिंह सुहाग (Gen. Dalbir Singh Suhag) का स्थान लिया जो सेवानिवृत्त हो गए। गोरखा रेजीमेण्ट के माध्यम से भारतीय थलसेना में शामिल होने वाले जनरल रावत को केन्द्र सरकार ने दो वरिष्ठ अधिकारियों को लांघकर यह अहम ओहदा प्रदान किया है।

कश्मीर तथा उत्तर-पूर्व में सेना की रणनीतियों को सीखने वाले रावत ने कांगो (Congo) में संयुक्त राष्ट्र शांति दल में शामिल भारतीय ब्रिगेड का नेतृत्व किया था तथा उनके नेतृत्व में भारतीय शांतिदल ने शानदार कार्य किया था।

………………………………………………………….

6) 31 दिसम्बर 2016 को भारतीय वायुसेना (IAF) की कमान संभालने वाले एयर चीफ मार्शल बी.एस. धनोआ (Air Chief Marshal B.S. Dhanoa) किस क्रम के वायुसेना अध्यक्ष हैं? – 22वें

विस्तार: एयर मार्शल बीरेन्दर सिंह धनोआ ने 31 दिसम्बर 2016 को एयर चीफ मार्शल अरूप राहा के स्थान पर भारतीय वायुसेना के 22वें एयर चीफ मार्शल के रूप में कमान संभाल ली। मुख्यत: किरण तथा मिग-21 लड़ाकू विमान उड़ाने वाले धनोआ को भारतीय वायुसेना के सभी अग्रणी लड़ाकू विमानों को उड़ाने में महारथ हासिल है तथा इस सूची में जैगुआर (Jaguar) से लेकर मिग-29 (MiG-29) व एसयू-30 एमकेआई (Su-30 MKI) तक सभी विमान शामिल हैं।

वे सिख समुदाय (Sikh community) से आने वाले भारतीय वायुसेना के तीसरे प्रमुख भी हैं। इससे पहले अर्जन सिंह (Arjan Singh) व दिलबाग सिंह (Dilbag Singh) ने यह गौरव हासिल किया था।

………………………………………………………….

| Current Affairs | Current Affairs 2017 | IAS | SBI | IBPS | Banking | Bank PO | Banking Awareness | Daily Current Affairs | Hindi Current Affairs | Hindi GK| करेण्ट अफेयर्स | सामयिकी, समसामायिकी | 2017 समसामायिकी | 2017 करेण्ट अफेयर्स | जनवरी 2017 |


Responses on This Article

© Nirdeshak. All rights reserved.