26 नवम्बर 2016 करेण्ट अफेयर्स

Site Administrator

Editorial Team

26 Nov, 2016

2088 Times Read.

कर्रेंट अफेयर्स,


RSS Feeds RSS Feed for this Article



Read this in: English

fidel-castro-2016

1) दिग्गज क्रांतिकारी तथा क्यूबा (Cuba) के राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री पदों को संभाल चुके फिदेल कास्त्रो (Fidel Castro) का 90 वर्ष की आयु में 25 नवम्बर 2016 को निधन हो गया। कास्त्रो ने क्यूबाई क्रांति का नेतृत्व करते हुए तानाशाह राष्ट्रपति फुलजेन्सियो बतिस्ता की सत्ता को पलटते हुए किस वर्ष क्यूबा की सत्ता संभाली थी? – 1959 में

विस्तार: फिदेल कास्त्रो (Fidel Castro) क्यूबा के राजनीतिज्ञ तथा क्रांतिकारी (revolutionary) थे जिन्होंने वर्ष 1959 से लेकर 1976 तक देश के प्रधानमंत्री (Prime Minister) तथा 1976 से लेकर वर्ष 2008 तक राष्ट्रपति (President) का पद संभाला था।

उन्होंने अपने देश में राष्ट्रपति फुलजेन्सियो बतिस्ता (Fulgencio Batista) के नेतृत्व वाली तानाशाह सरकार के खिलाफ सशस्त्र विद्रोह का बिगुल फूँका था तथा 1953 से 1959 तक चलने वाले इस संघर्ष को क्यूबाई क्रांति (Cuban Revolution) के नाम से जाना जाता है। इस क्रांति से बतिस्ता की सत्ता का पतन हुआ था तथा फिदेल कास्त्रो फरवरी 1959 में देश के प्रधानमंत्री बन गए थे। तब वे मात्र 32 वर्ष के थे तथा किसी दक्षिण अमेरिकी देश के सबसे युवा नेता थे।

कास्त्रो के शासनकाल को अमेरिका (U.S.) के साथ घटित मिसाइल संकट के कारण जाना जाता है जिससे दुनिया परमाणु युद्ध की लगभग कगार पर पहुँच गया था। तत्कालीन सोवियत संघ (USSR) द्वारा क्यूबा की जमकर मदद करने के कारण अमेरिका तथा सोवियत सम्बन्ध अपने निचले स्तर पर पहुँच गए थे। 1961 में अमेरिका के नेतृत्व में बे पिग्स की खाड़ी (Bay of Pigs) का हमला किया गया था।

लेकिन कास्त्रो को दक्षिण अमेरिका से लेकर अफ्रीका में तमाम क्रांतिकारी अपने आदर्श तथा प्रेरणा-स्रोत के रूप में देखते थे। लगभग 50 वर्ष लम्बे शासन के बाद खराब स्वास्थ्य के चलते वर्ष 2008 में फिदेल कास्त्रो सत्ता से उतर गए थे तथा उन्होंने अपने छोटे भाई राउल कास्त्रो (Raul Castro) को देश की बागडोर सौंप दी थी।

……………………………………………………

dileep-padgaonkar-2016

2) 25 नवम्बर 2016 को दिवंगत होने वाले दिलीप पाडगाँवकर (Dileep Padgaonkar) किस सुप्रसिद्ध अंग्रेजी समाचार-पत्र के भूतपूर्व सम्पादक (former editor) थे? – द टाइम्स ऑफ इण्डिया

विस्तार: दिलीप पाडगाँवकर (Dileep Padgaonkar) ने 1986 से लेकर 1994 तक अंग्रेजी समाचार-पत्र द टाइम्स ऑफ इण्डिया (The Times of India) के सम्पादक (Editor) की भूमिका निभाई थी। उनका इस पत्र से लम्बा सम्बन्ध रहा था। 1998 में उन्होंने फिर वापसी करते हुए कार्यकारी प्रबन्ध सम्पादक (executive Managing Editor) का पद संभाल लिया था तथा इस पद पर 2002 तक रहे। बाद में वे परामर्शादाता के रूप में भूमिका निभा रहे थे।

पाडगाँवकर ने उस तीन-सदस्यीय वार्ताकार दल (panel of interlocutors) का नेतृत्व किया था जिसे जम्मू व कश्मीर (J&K) राज्य की जनता तथा राजनीतिज्ञों के विचार जानने के लिए केन्द्र सरकार ने अक्टूबर 2010 में गठित किया था। इस दल ने राज्य में जाकर तमाम पक्षों के साथ विस्तृत वार्ता कर राज्य की स्थितियों की जानकारी केन्द्र को दी थी।

उनका निधन 25 नवम्बर 2016 को पुणे (Pune) के एक अस्पताल में हुआ। वे 72 वर्ष के थे।

……………………………………………………

3) नालंदा विश्वविद्यालय (Nalanda University) के कुलपति पद से 25 नवम्बर 2016 को इस्तीफा देने वाली हस्ती का क्या नाम है? – प्रो. जॉर्ज यिओ (Prof. George Yeo)

विस्तार: प्रो. जॉर्ज यिओ (Prof. George Yeo), जोकि बिहार के राजगीर (Rajgir) में स्थित नालंदा विश्वविद्यालय के कुलपति थे, ने एकाएक 25 नवम्बर 2016 को अपने पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने अपना इस्तीफा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को भेजा, जो इस प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय के विज़िटर (Visitor) हैं।

राष्ट्रपति को कड़े शब्दों में भेजे गए अपने त्यागपत्र में प्रो. जॉर्ज यिओ ने आरोप लगाया कि विश्वविद्यालय के गवर्निंग बोर्ड को भंग करने के सरकार के निर्णय से उन्हें बेहद आश्चर्य हुआ है।

प्रो. यिओ नोबेल पुरस्कार विजेता अमर्त्य सेन के बाद विश्वविद्यालय के दूसरे कुलपति हैं। अमर्त्य सेन ने जून 2015 में यह आरोप लगाते हुए इस पद से इस्तीफा दे दिया था कि शासन उनको विश्वविद्यालय को चलाने में अपेक्षित तरह से सहयोग नहीं कर रहा है।

उल्लेखनीय है कि नालंदा विश्वविद्यालय को इसी नाम से प्रसिद्ध तथा नष्ट हो चुके गुप्त काल के ऐतिहासिक विश्वविद्यालय की धरोहर को पुनर्स्थापित करने की महात्वाकांक्षी योजना के तहत पूर्ववर्ती संप्रग (UPA) सरकार ने स्थापित किया था। सरकार का इरादा इसे एक अंतर्राष्ट्रीय विश्वविद्यालय के रूप में स्थापित करना था।

……………………………………………………

4) 25 नवम्बर 2016 को किसे टाटा स्टील (Tata Steel) के अंतरिम अध्यक्ष (Interim Chairman) के रूप में चुना गया? – ओ.पी. भट्ट (O.P. Bhatt)

विस्तार: इस्पात निर्माता कम्पनी टाटा स्टील (Tata Steel) के बोर्ड ने स्वतंत्र निदेशक (independent director) की भूमिका निभा रहे ओ.पी. भट्ट (O.P. Bhatt) को कम्पनी के अंतरिम अध्यक्ष के रूप में चुन लिया। यह निर्णय बोर्ड की 25 नवम्बर 2016 को हुई बैठक में लिया गया, जोकि 24 अक्टूबर को साइरस मिस्त्री को अध्यक्ष से हटाए जाने के बाद बोर्ड की दूसरी बैठक थी।

बोर्ड ने ओ.पी. भट्ट को अंतरिम अध्यक्ष के रूप में 21 दिसम्बर 2016 तक के लिए चुना है जब बोर्ड की असाधरण आम बैठक (extraordinary general meeting – EGM) का आयोजन किया जायेगा। भट्ट को चुनने के लिए जहाँ 6 बोर्ड सदस्यों ने अपना समर्थन दिया वहीं नुस्ली वाडिया (Nusli Wadia) समेत 3 सदस्यों ने प्रस्ताव का विरोध किया।

उल्लेखनीय है कि ओ.पी. भट्ट को 10 जून 2013 को टाटा स्टील में स्वतंत्र निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया था। वे देश के सबसे बड़े वाणिज्यिक बैंक भारतीय स्टेट बैंक के भूतपूर्व अध्यक्ष हैं।

……………………………………………………

5) एयरलाइन यात्रियों को सुविधाजनक यात्रा अनुभव सुनिश्चित कराने के उद्देश्य से नागरिक उड्डयन मंत्रालय द्वारा 25 नवम्बर 2016 को लाँच किए गए नए पोर्टल (portal) तथा एप्लीकेशन (app) का क्या नाम है? – एयरसेवा (AirSewa)

विस्तार: एयरसेवा (AirSewa) नामक पोर्टल तथा मोबाइल एप्लीकेशन केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री अशोक गजपति राजू ने 25 नवम्बर 2016 को लाँच किया। इसके संचालन के लिए एक इंटरएक्टिव वेब पोर्टल तथा मोबाइल एप्लीकेशन तैयार किया गया है जिसे एण्ड्रॉयड (Android) और iOS दोनों प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध कराया गया है।

एयरसेवा के द्वारा यात्रियों की शिकायतों को एक व्यवस्थित तरीके से सुलझाने का प्रयास किया जायेगा। इसमें शिकायतों को सुलझाने, शिकायतों की हैण्डलिंग, उड़ानों की स्थिति की सूचना, एयरपोर्ट सम्बन्धी जानकारी, आदि के लिए एक व्यवस्थित प्रणाली स्थापित की गई है।

……………………………………………………

| Current Affairs | Current Affairs 2016 | IAS | SBI | IBPS | Banking | Bank PO | Banking Awareness | Daily Current Affairs | Hindi Current Affairs | Hindi GK| करेण्ट अफेयर्स | सामयिकी, समसामायिकी | 2016 समसामायिकी | 2016 करेण्ट अफेयर्स | नवम्बर 2016 |


Responses on This Article

© Nirdeshak. All rights reserved.