25 मार्च 2017 करेण्ट अफेयर्स

Site Administrator

Editorial Team

25 Mar, 2017

1802 Times Read.

कर्रेंट अफेयर्स,


RSS Feeds RSS Feed for this Article



Read this in: English

1) भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबन्धन (NDA) सरकार ने अन्य पिछड़ा वर्गों (OBCs) से सम्बन्धित एक नए प्रस्तावित आयोग को संवैधानिक मान्यता प्रदान करने के प्रस्ताव को 23 मार्च 2017 को अपनी स्वीकृति प्रदान कर दी। इस आयोग का नाम क्या है? – राष्ट्रीय सामाजिक एवं शैक्षणिक पिछड़ा वर्ग आयोग (National Commission for Socially and Educationally Backward Classes – NSEBC)

विस्तार: राष्ट्रीय सामाजिक एवं शैक्षणिक पिछड़ा वर्ग आयोग (National Commission for Socially and Educationally Backward Classes – NSEBC) नामक यह प्रस्तावित आयोग राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग (National Commission for Backward Classes – NCBC) का स्थान लेगा जिसका गठन 1992 में सर्वोच्च न्यायालय के सम्बन्धित आदेश पर किया गया था।

इस आयोग को पिछड़ा वर्गों में वर्गों को शामिल करने अथवा बाहर करने के बारे में प्राप्त होने वाले सुझावों पर विचार और निर्णय लेने का अधिकार होगा। इसमें एक अध्यक्ष, एक उपाध्यक्ष और तीन अन्य सदस्य होंगे।

इस प्रस्तावित आयोग के गठन से पूर्व एक संवैधानिक संशोधन करना होगा, जो संभवत: संविधान में अनुच्छेद 338 ‘B’ (Section 338B) को जोड़ने से सम्बन्धित होगा जिससे उक्त आयोग को संवैधानिक मान्यता हासिल हो जायेगी तथा उसे राष्ट्रीय अनुसूचित जाति व जनजाति आयोग की भांति शक्तियाँ हासिल हो जायेंगी। इसके लिए संसद में तत्सम्बन्धित विधेयक प्रस्तुत किया जायेगा। इस विधेयक को संसद के दोनों सदनों में दो-तिहाई बहुमत हासिल करना होगा जिसके बाद देश के राज्यों की कम से कम आधी विधानसभाओं की स्वीकृति भी हासिल करनी होगी।

………………………………………………………………………

2) मार्च 2017 के दौरान भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी हाइपरसोनिक विण्ड टनल (hypersonic wind tunnel) को शुरू कर एक ऐतिहासिक मुकाम हासिल किया। उच्च प्रौद्यौगिकी वाली यह विण्ड टनल कहाँ स्थापित की गई है? – तिरुवनंतपुरम (Thiruvananthapuram)

विस्तार: ISRO ने विश्व की तीसरी सबसे बड़ी हाइपरसोनिक विण्ड टनल (world’s third largest hypersonic wind tunnel) को तिरुवनंतपुरम स्थित विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केन्द्र (Vikram Sarabhai Space Centre – VSSC) में 20 मार्च 2017 को शुरू कर एक नया इतिहास रच दिया।

इस विण्ड टनल के तहत मुख्यत: एक मीटर लम्बी हाइपरसोनिक विण्ड टनल और एक-मीटर लम्बी शॉक टनल (shock tunnel) को तैयार किया गया है। आकार तथा सिमुलेशन क्षमता के अनुसार यह दुनिया की ऐसी तीसरी सबसे बड़ी प्रणाली है। इन प्रणालियों का नाम इसरो के भूतपूर्व प्रमुख सतीश धवन के नाम पर रखा गया है तथा इन प्रणालियों को भारतीय कम्पनियों के सहयोग से पूर्णतया स्वदेशी तकनीक से तैयार किया गया है।

उल्लेखनीय है कि विण्ड टनल का इस्तेमाल ठोस पदार्थ से गुज़र रही हवा के प्रभावों के अध्ययन के लिए किया जाता है। माना जा रहा है कि इस विण्ड टनल की स्थापना से ISRO के भविष्य के अभियानों जैसे रियूज़ेबल लाँच वेहिकिल (Reusable Launch Vehicle – RLV) , टू स्टेज टू ऑर्बिट (Two Stage to Orbit’ – TSTO) रॉकेट, मानव युक्त अंतरिक्ष अभियानों और एयर ब्रीदिंग प्रोपल्शन प्रणालियों (air breathing propulsion systems) में प्रयोग किया जा सकेगा।

………………………………………………………………………

3) मार्च 2017 के दौरान जारी की गई वर्ष 2017 की विश्व प्रसन्नता रिपोर्ट (World Happiness Report 2017) में भारत को वैश्विक तौर पर कौन सा स्थान दिया गया है? – 122वाँ

विस्तार: UN Sustainable Development Solutions Network (UNSDSN) ने अंतर्राष्ट्रीय प्रसन्नता दिवस (International Day of Happiness) की पूर्वसंध्या पर 20 मार्च 2017 को वर्ष 2017 की विश्व प्रसन्नता रिपोर्ट (World Happiness Report 2017) को जारी किया। इसमें भारत को 155 देशों में 122वें स्थान पर रखा गया है।

उल्लेखनीय है कि विश्व प्रसन्नता रिपोर्ट में दुनिया भर के देशों को तमाम आधार पर 1 से 10 के पैमाने पर रख कर स्थान प्रदान किया जाता है। यह आधार हैं – असमानता, जीवन प्रत्याशा, प्रति व्यकि सकल घरेलू उत्पाद, सार्वजनिक भरोसा और सामाजिक सुरक्षा। माना जाता है कि इन समस्त पैमानों से किसी देश में प्रसन्नता के स्तर का आकलन किया जा सकता है।

इस रिपोर्ट के अनुसार विश्व के पाँच सर्वाधिक प्रसन्न देश हैं – 1) नॉर्वे 2) डेनमार्क 3) आइसलैण्ड 4) स्विट्ज़रलैण्ड और 5) नीदरलैण्ड्स। वहीं दुनिया के 5 सबसे अप्रसन्न देश हैं 1) रवाण्डा 2) सीरिया 3) तंजानिया 4) बुरुण्डी और 5) सेण्ट्रल अफ्रीकन रिपब्लिक।

………………………………………………………………………

4) समकालीन समय के कुछ सुविख्यात लेखकों में से एक अशोकमित्रन (Ashokamitran) का 23 मार्च 2017 को निधन हो गया। उन्हें किस भाषा में की गई रचनाओं के लिए जाना जाता है? – तमिल (Tamil)

विस्तार: अशोकमित्रन (Ashokamitran) देश की स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद तमिल साहित्य में योगदान देने वाले अग्रणी लेखकों में से एक थे। उन्हें समकालीन तमिल कथाकारों में काफी उच्च स्थान पर रखा जाता है। 86 वर्ष की आयु में उनका 23 मार्च 2017 को चेन्नई में निधन हो गया।

उनका जन्म 1931 में मौजूदा तेलंगाना के सिकन्दराबाद में जे. त्यागराजन (J. Tyagarajan) के रूप में हुआ था। माता-पिता की मृत्यु के बाद वे चेन्नई चले गए थे तथा यहाँ के प्रसिद्ध जेमिनी स्टूडीयोज़ में एक सहायक के रूप में काम शुरू करने के बाद वे पूरी तरह से लेखन में कूद पड़े थे। 60 के दशक में उन्होंने अशोकमित्रन के छद्मनाम (pseudonym) से लिखना शुरू कर दिया था तथा वे इसी नाम से लोकप्रिय भी हो गए।

उन्होंने तमिल में 200 से अधिक कहानियाँ लिखी थीं तथा उन्हें अपनी सरल व कलानिष्ट लेखन शैली दोनों के लिए याद किया जाता है। 60 के दशक के अंत में मद्रास (वर्तमान चेन्नई) में भीषण जल संकट पर लिखे उनके उपन्यास “थन्नीर” (जल) को तमिल भाषा के एक कालजयी उपन्यास की मान्यता मिली हुई है।

………………………………………………………………………

5) शिवसेना (Shiv Sena) का वह कौन सा सांसद (MP) है जो 23 मार्च 2017 को एयर इण्डिया (Air India) के एक कर्मी की पिटाई कर चर्चा में आ गया तथा घरेलू एयरलाइन्स ने जिनके विमान सेवाएं लेने पर प्रतिबन्ध लगाने की घोषणा भी कर दी? – रवीन्द्र गायकवाड (Ravindra Gaikwad)

विस्तार: रवीन्द्र गायकवाड (Ravindra Gaikwad) शिवसेना (Shiv Sena) के सांसद (MP) हैं तथा लोकसभा में महाराष्ट्र (Maharashtra) की उस्मानाबाद (Osmanabad) सीट का प्रतिनिधित्व करते हैं। ये सांसद 23 मार्च 2017 को उस समय चर्चा में आ गया जब इसने सार्वजनिक विमानन कम्पनी एयर इण्डिया के एक 60-वर्षीय वरिष्ठ कर्मचारी को चप्पलों से बुरी तरह से पीटा क्योंकि दिल्ली आने वाले विमान में उन्हें बिजनेस क्लास सीट नहीं प्रदान की गई थी तथा इस सम्बन्ध में वे उक्त अधिकारी (श्री सुकुमार) के रवैये से खुश नहीं थे। हालांकि एयर इण्डिया ने स्पष्ट किया कि सांसद गायकवाड को एक दिन पूर्व यह स्पष्ट कर दिया गया था कि उन्हें बिजनेस क्लास की सीट उपलब्ध नहीं हो पायेगी।

24 मार्च 2017 इस मामले में सभी घरेलू विमान कम्पनियों ने अनूठी एकजुटता का प्रदर्शन करने हुए निर्णय लिया कि रवीन्द्र गायकवाड को तत्काल प्रभाव से विमान सेवाएं लेने से प्रतिबन्धित कर दिया गया है। यह निर्णय एयर इण्डिया के अलावा फेडरेशन ऑफ इण्डियन एयरलाइन्स (Federation of Indian Airlines – FIA) नामक संगठन ने लिया जिसके सदस्य के रूप में इण्डिगो (IndiGo), जेट एयरवेज़ (Jet Airways), स्पाइसजेट (SpiceJet) और गोएयर (GoAir) जैसी विमान कम्पनियां शामिल हैं। यह देश में ऐसा पहला ही मौका था जब घरेलू विमान कम्पनियों ने जनता के किसी प्रतिनिधि की विमान सुविधा को इस प्रकार से प्रतिबन्धित कर दिया हो।

………………………………………………………………………

| Current Affairs | Current Affairs 2017 | IAS | SBI | IBPS | Banking | Bank PO | Banking Awareness | Daily Current Affairs | Hindi Current Affairs | Hindi GK| करेण्ट अफेयर्स | सामयिकी, समसामायिकी | 2017 समसामायिकी | 2017 करेण्ट अफेयर्स | मार्च 2017 |


Responses on This Article

© Nirdeshak. All rights reserved.