24-31 दिसम्बर 2016 करेण्ट अफेयर्स

Site Administrator

Editorial Team

31 Dec, 2016

2395 Times Read.

कर्रेंट अफेयर्स,


RSS Feeds RSS Feed for this Article



Read this in: English

1) केन्द्र सरकार ने 30 दिसम्बर 2016 को बिना नकद के आसानी से भुगतान करने की सुविधा प्रदान करने के लिए एक बिलकुल नया मोबाइल एप्लीकेशन (Mobile payments app) लाँच किया। USSD-आधारित भुगतान में सक्षम इस एप्लीकेशन की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसके द्वारा किसी भी आम फोन से भुगतान करना संभव होगा। इस नए एप्लीकेशन का नाम क्या है? – भारत इंटरफेस फॉर मनी (BHIM)

विस्तार: भारत इंटरफेस फॉर मनी (Bharat Interface for Money – BHIM) केन्द्र सरकार द्वारा डिज़िटल भुगतान करने के लिए तैयार किया गया बिलकुल नया एप्लीकेशन है जिसे 30 दिसम्बर 2016 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लाँच किया। इस एप्लीकेशन के द्वारा केन्द्र सरकार डिज़िटल भुगतान को एक क्रांति में तब्दील करने का मंसूबा रखती है।

BHIM का नाम डॉ. भीमराव अम्बेडकर के नाम पर रखा गया है।

इस एप्लीकेशन की सबसे बड़ी बात यह है कि इसकी मदद से एक आम बजट फोन से भी डिज़िटल भुगतान करना तथा प्राप्त करना संभव होगा। इसके लिए सिर्फ *99# डायल करने पर एक मेन्यू खुल जायेगा जो ग्राहक को तमाम सम्बन्धित विकल्प उपलब्ध करायेगा। हालांकि इसके लिए उसी मोबाइल नम्बर का इस्तेमाल करना होगा जो बैंक के साथ पंजीकृत होगा।

BHIM की मदद से बिना क्रेडिट/डेबिट कार्ड अथवा मोबाइल वॉलेट के ग्राहक तमाम प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक लेन-देन करने में सक्षम हो जायेंगे। वे सभी बैंक जो यूनीफाइड पेमेण्ट्स इंटरफेस (UPI) से जुड़े हैं वे इस एप्लीकेशन को लेन-देन के लिए स्वीकार करेंगे। वहीं UPI से नहीं जुड़े बैंकों के ग्राहकों को इस एप्लीकेशन के प्रयोग के लिए 11 संख्या वाले IFSC कोड का इस्तेमाल करना होगा जिसे भारतीय रिज़र्व बैंक ने सभी बैंकों की शाखाओं को प्रदान किया है।

BHIM को प्रारंभ में सिर्फ एण्ड्रॉयड (Android) प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध कराया गया है तथा इसे जल्द ही प्लेटफॉर्म के लिए भी उपलब्ध करा दिया जायेगा। इसके द्वारा एक दिन में अधिकतम 20,000 रुपए का तथा एक बार में अधिकतम 10,000 रुपए का लेन-देन किया जा सकेगा।

……………………………………………………….

2) भारत की सबसे लम्बी दूरी तक मार करने वाली परमाणु क्षमता से सम्पन्न अंतरमहाद्वीपीय मिसाइल का क्या नाम है जिसका सफल परीक्षण DRDO द्वारा 26 दिसम्बर 2016 को किया गया? – अग्नि-5 (Agni-5)

विस्तार: अग्नि-5 (Agni-5) भारत की अब तक की सबसे शक्तिशाली परमाणु क्षमता से सम्पन्न मिसाइल है जिसका सफल परीक्षण रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) ने 26 दिसम्बर 2016 को ओडीशा के तट पर स्थित कलाम द्वीप (Kalam Island) से किया गया। यह परमाणु आयुध ले जाने में सक्षम तथा अंतर-महाद्वीपीय (intercontinental) श्रेणी की सतह-से-सतह (surface-to-surface) पर मार करने वाली मिसाइल है। उल्लेखनीय है कि भारत के मिसाइल प्रौद्यौगिकी नियंत्रण दौर (Missile Technology Control Regime – MTCR) में शामिल होने के बाद यह अग्नि-5 मिसाइल का पहला परीक्षण था।

अग्नि-5 की मारक क्षमता 5,000 किलोमीटर तक है तथा यह अपने साथ 1,000 किलो तक आयुध ले जा सकने में सक्षम है। माना जा रहा है कि इससे भारत को अपने शत्रुओं पर एक बड़ी कूटनीतिक बढ़त मिलेगी क्योंकि इस मिसाइल के साथ भारत पाकिस्तान तथा चीन समेत समूचे एशिया को इसकी मारक क्षमता के तहत लाने में सफल हुआ है।

इसकी लम्बाई 17 मीटर है तथा इसका अपना वजन 50 टन है। यह बहुत कार्यकुशल तथा अत्याधुनिक मिसाइल है।

……………………………………………………….

3) वर्ष 2016 के ज्ञानपीठ पुरस्कार (Jnanpith Award 2016) के लिए किसका चयन करने की घोषणा 23 दिसम्बर 2016 को की गई? – शंखा घोष (बांग्ला साहित्यकार)

विस्तार: देश के सबसे प्रतिष्ठित साहित्यिक सम्मान के रूप में विख्यात ज्ञानपीठ पुरस्कार का वर्ष 2016 का सम्मान सुप्रसिद्ध बांग्ला साहित्यकार शंखा घोष (Shankha Ghosh) को प्रदान किया जायेगा। यह घोषणा ज्ञानपीठ बोर्ड ने नई दिल्ली में 23 दिसम्बर 2016 को की।

84-वर्षीय शंखा घोष को आधुनिक बांग्ला साहित्य के पुरोधाओं में से एक माना जाता है तथा उन्हें रबीन्द्रनाथ टैगोर के साहित्य पर एक प्रमुख ज्ञाता माना जाता है।

उन्हें वर्ष 2011 में पद्म भूषण (Padma Bhushan) तथा 1999 में साहित्य अकादमी (Sahitya Academi) सम्मान प्रदान किया गया था। उन्हें दिया जा रहा ज्ञानपीठ सम्मान इस प्रतिष्ठित सम्मान का 52वाँ सम्मान होगा।

……………………………………………………….

4) केन्द्र सरकार ने 29 दिसम्बर 2016 को किसे दिल्ली (Delhi) का अगला उप-राज्यपाल (Lt. Governor) नियुक्त कर दिया? – अनिल बैजल (Anil Baijal)

विस्तार: अनिल बैजल (Anil Baijal), जोकि केन्द्र-शासित प्रदेश काडर के 1969 बैच के IAS अधिकारी हैं, को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने 29 दिसम्बर 2016 को दिल्ली का नया उप-राज्यपाल (Lieutenant Governor) नियुक्त कर दिया।

वे अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार के दौर में केन्द्रीय गृहमंत्री थे तथा वर्तमान में वे विवेकानंद इंटरनेशनल फाउण्डेशन (Vivekananda International Foundation) नामक कूटनीतिक थिंकटैंक से जुड़े हुए थे। उन्होंने कुछ ही दिन इस पद से इस्तीफा देने वाले नजीब जंग (Najeeb Jung) का स्थान लिया है।

उन्हें ऐसे समय में यह जिम्मेदारी दी गई है जब दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल तथा पूर्व उप-राज्यपाल नजीब जंग के बीच सम्बन्धों में कटूता जगजाहिर रही है।

……………………………………………………….

5) 28 दिसम्बर 2016 को किसे भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) का उप-गवर्नर (Deputy Governor) नियुक्त किया गया जिसके चलते वे केन्द्रीय बैंक के चौथे उप-गवर्नर बनेंगे? – विरल. वी. आचार्य (Viral V. Acharya)

विस्तार: विरल. वी. आचार्य (Viral V. Acharya) को 28 दिसम्बर 2016 को भारतीय रिज़र्व बैंक का चौथा उप-गवर्नर नियुक्त किया गया। उल्लेखनीय है कि उप-गवर्नर की यह एक रिक्ति उर्जित पटेल (Urjit Patel) को केन्द्रीय बैंक का गवर्नर नियुक्त किए जाने के बाद पैदा हुई थी।

वर्तमान में RBI में तीन उप-गवर्नर हैं – एस.एस. मुन्द्रा (SS Mundra), एन.एस. विश्वनाथन (NS Vishwanathan) और आर. गांधी (R. Gandhi)।

42-वर्षीय आचार्य आईआईटी मुम्बई (IIT Mumbai) से इंजीनियरिंग ग्रेजुएट हैं। इसके बाद उन्होंने न्यूयॉर्क यूनीवर्सिटी (New York University) के स्टर्न स्कूल ऑफ बिज़नेस (Stern School of Business) से फाइनेंस में Phd की डिग्री हासिल कर ली। वे वर्तमान में इसी संस्था में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर हैं।

……………………………………………………….

6) निजी क्षेत्र के किस बैंक ने दिसम्बर 2016 के दौरान व्यापारियों के लिए “इज़ीपे” (‘Eazypay’) नामक एक नया एप्लीकेशन लाँच किया? – आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank)

विस्तार: देश के सबसे बड़े निजी बैंक आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank) ने 27 दिसम्बर 2016 को व्यापारियों द्वारा भुगतान प्राप्त करने हेतु एक नया एप्लीकेशन लाँच किया जिसका नाम है – “इज़ीपे” (‘Eazypay’)। इस नए एप्लीकेशन द्वारा व्यापारी भुगतान के तमाम माध्यमों जैसे यूपीआई (UPI), डेबिट व क्रेडिट कार्ड, बैंक के पॉकेट्स (Pockets) नामक वॉलेट तथा इंटरनेट बैंकिंग से भुगतान हासिल कर सकेंगे।

“इज़ीपे” की मदद से ई-कॉमर्स व टेलीसेल्स जैसे व्यवासायों में संलग्न व्यापारी भुगतान हासिल कर सकेंगे। इस नए एप्लीकेशन की मदद से वहाँ भुगतान करने की सुविधा मिलेगी जहाँ खरीददार तथा विक्रेता भौतिक रूप से मौजूद नहीं रहते हैं।

“इज़ीपे” का इस्तेमाल आईसीआईसीआई बैंक में करेण्ट खाता रखने वाला हर व्यापारी कर सकेगा।

……………………………………………………….

7) कौन सा राज्य वर्ष 2022 के राष्ट्रीय खेलों (2022 National Games) की मेजबानी करेगा, जिसकी घोषणा भारतीय ऑलम्पिक संघ (IOA) ने 27 दिसम्बर 2016 को की? – मेघालय (Meghalaya)

विस्तार: देश के पूर्वोत्तर में स्थित राज्य मेघालय (Meghalaya) वर्ष 2022 के राष्ट्रीय खेलों (National Games of 2022) की मेजबानी करेगा। यह घोषणा 27 दिसम्बर 2016 को चेन्नई (Chennai) में हुई भारतीय ऑलम्पिक संघ (Indian Olympic Association – IOA) की बैठक में की गई। इन खेलों में 32 ऑलम्पिक तथा 6 गैर-ऑलम्पिक स्पर्धाओं का आयोजन किया जायेगा।

उल्लेखनीय है कि अभी तक पूर्वोत्तर के मात्र दो राज्यों ने राष्ट्रीय खेलों की मेजबानी कई है – 1999 में मणिपुर (manipur) ने तथा 2007 में असम (Assam) ने।

……………………………………………………….

8) 28 दिसम्बर 2016 को दिवंगत होने वाले सुंदरलाल पटवा किस राज्य के भूतपूर्व मुख्यमंत्री थे? – मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh)

विस्तार: सुंदर लाल पटवा (Sunder Lal Patwa), जिनका निधन 28 दिसम्बर 2016 को हुआ, दो बार मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) राज्य के मुख्यमंत्री रह चुके थे। वे 92 वर्ष के थे।

उन्होंने राज्य के मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी पहली बार 20 जनवरी 1980 से 17 फरवरी 1980 के बीच संभाली थी। तब वे जनता पार्टी (Janata Party) से जुड़े हुए थे। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में उनका दूसरा कार्यकाल 5 मार्च 1990 से 15 दिसम्बर 1992 के बीच रहा जब वे भारतीय जनता पार्टी (BJP) के साथ थे।

उन्होंने अपने लम्बे राजनीतिक करियर की शुरूआत वर्ष 1951 में जनसंघ (Jan Sangh) के साथ की थी, जिसका बाद में जनता पार्टी के साथ विलय कर दिया गया था। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के साथ जुड़ाव के कारण उन्हें वर्ष 1948 में महात्मा गांधी की हत्या के बाद 7 माह के लिए कारावास की सजा भोगनी पड़ी थी। वहीं आपातकाल (Emergency) के दौरान जून 1975 से जनवरी 1977 तक उन्हें MISA के तहत जेल में रहना पड़ा था।

1999 में पटवा ने मध्य प्रदेश की ही होशंगाबाद (Hoshangabad) लोकसभा सीट से चुनाव जीता था तथा वे वर्ष 1999 से 2001 के बीच अटल बिहारी वाजपेयी के मंत्रिमण्डल में मंत्री रहे थे।

……………………………………………………….

9) दिसम्बर 2016 के दौरान चीन (China) ने दुनिया के सबसे लम्बे बुलेट ट्रेन नेटवर्क का संचालन शुरू किया जिसकी लम्बाई 2,252 किलोमोटर है। इस महात्वाकांक्षी नेटवर्क के माध्यम से देश के किन दो शहरों को हाई-स्पीड रेल नेटवर्क के माध्यम से जोड़ा गया है? – शंघाई (Shanghai) और कुनमिंग (Kunming)

विस्तार: चीन ने शंघाई (Shanghai) और कुनमिंग (Kunming) को एक हाई-स्पीड रेल लाइन से जोड़ कर देश के समृद्ध पूर्वी अंचल को अपेक्षाकृत कम विकसित दक्षिण-पश्चिम अंचल से जोड़ने का प्रयास किया है। इस प्रकार चीन ने विश्व की सबसे लम्बी हाई-स्पीड रेल लाइन की स्थापना की है।

यह बुलेट ट्रेन लाइन देश के 5 प्रांतों से होकर गुजरती है – झेजियांग, जियांगशी, हुनान, गुइझोऊ और युन्नान। इस लाइन के चलते शंघाई से कुनमिंग के बीच यात्रा में लगने वाला समय 34 घण्टे से घटकर मात्र 11 घण्टे रह गया है। इस नेटवर्क पर ट्रेन की अधिकतम गति 330 किमी. प्रति घण्टा रखी गई है।

……………………………………………………….

10) तुतिंग (Tuting) नामक नए एडवान्स्ड लैण्डिंग ग्राउण्ड (ALG) को 27 दिसम्बर 2016 को खोला गया। यह नवीनतम ALG किस पूर्वोत्तर राज्य में स्थित है? – अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh)

विस्तार: तुतिंग (Tuting) एडवान्स्ड लैण्डिंग ग्राउण्ड (Advanced Landing Ground – ALG) अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) के ऊपरी सियांग (Upper Siang) जिले में स्थित है। यह चीन से सटी अंतर्राष्ट्रीय सीमा से मात्र 30 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इसका उद्घाटन 27 दिसम्बर 2016 को राज्य के तत्कालीन मुख्यमंत्री पेमा खाण्डू (Pema Khandu) द्वारा किया गया।

पूर्वी हिमालय पर्वतमालाओं में 1,240 मीटर की ऊँचाई पर स्थित इस एडवान्स्ड लैण्डिंग ग्राउण्ड का नियंत्रण जोरहाट (असम) स्थित भारतीय वायुसेना स्टेशन से किया जायेगा।

तूतिंग अरुणाचल प्रदेश में पिछले एक साल के दौरान शुरू किया जाने वाला छठवां एडवान्स्ड लैण्डिंग ग्राउण्ड है, जिनका पुनर्निर्माण तथा विस्तार किया गया है। मुख्य रूप से सुरक्षा व प्रतिरक्षा कार्यों के लिए प्रयोग में लाए जाने वाले इस एडवान्स्ड लैण्डिंग ग्राउण्ड को नागरिक कार्यों में प्रयोग में लाने का प्रावधान भी किया गया है जिससे राज्य के सुदूर क्षेत्रों में रहने वाले नागरिकों को लाभ मिलेगा।

उल्लेखनीय है कि राज्य में अन्य 5 एडवान्स्ड लैण्डिंग ग्राउण्ड हैं – मेचुका, आलो, पासीघाट, ज़ीरो और विजोयनगर।

……………………………………………………….

| Current Affairs | Current Affairs 2016 | IAS | SBI | IBPS | Banking | Bank PO | Banking Awareness | Daily Current Affairs | Hindi Current Affairs | Hindi GK| करेण्ट अफेयर्स | सामयिकी, समसामायिकी | 2016 समसामायिकी | 2016 करेण्ट अफेयर्स | दिसम्बर 2016 |


Responses on This Article

© Nirdeshak. All rights reserved.