18-19 दिसम्बर 2016 करेण्ट अफेयर्स

Site Administrator

Editorial Team

19 Dec, 2016

2488 Times Read.

कर्रेंट अफेयर्स,


RSS Feeds RSS Feed for this Article



Read this in: English

1) भारत ने 18 दिसम्बर 2016 को किस देश को हरा कर वर्ष 2016 का जूनियर हॉकी विश्व कप जीत लिया? – बेल्जियम (Belgium)

विस्तार: भारतीय जूनियर हॉकी टीम ने बेल्जियम (Belgium) को फाइनल में हराकर वर्ष 2016 का जूनियर हॉकी विश्व कप (Junior Hockey World Cup 2016) का खिताब जीत लिया। भारत ने यह प्रतिष्ठित विश्व कप दूसरी बार जीता है। इससे पहले भारत ने 15 वर्ष पूर्व 2001 में यह खिताब जीता था। इस खिताबी जीत के साथ भारत पहला ऐसा देश बन गया है जिसने एक मेजबान के रूप में जूनियर हॉकी विश्व कप जीता है।

18 दिसम्बर 2016 को हुए फाइनल में भारत ने जूनियर हॉकी विश्व कप में पहली बार स्थान बनाने वाली बेल्जियम की टीम को 2-1 से पराजित किया। भारत ने लगभग पूरे मैच में दबाव बनाए रखा। गुरजंत सिंह (Gurjant Singh) की शानदार रिवर्स हिट के द्वारा भारत ने आठवें मिनट में बढ़त बना ली। 22वें मिनट में सिमरनजीत सिंह (Simranjeet Singh) ने इस बढ़त को 2 गोल का कर दिया। मैच के अंतिम सेकेण्डों में बॉकरिक (Bockrijck) ने एक गोल कर बेल्जियम को कुछ संतुष्टि जरूर प्रदान की लेकिन तब तक यह मैच उनके हाथों से निकल चुका था।

स्पेन (Spain) के एनरीक गोंज़ालेज़ डे कास्तेज़ो (Enrique Gonzalez de Castejon) को टूर्नामेण्ट का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी घोषित किया गया जबकि आठ गोल करने वाले इंग्लैण्ड (England) के एडवर्ड हॉरलर (Edward Horler) सर्वाधिक गोल करने वाले खिलाड़ी के रूप में उभरे।

यह विश्व कप जूनियर हॉकी विश्व कप का 11वाँ संस्करण था तथा इसका आयोजन 8 से 18 दिसम्बर 2016 के बीच लखनऊ (Lucknow) के मेजर ध्यानचंद स्टेडियम (Major Dhyan Chand Stadium) में किया गया।

………………………………………………………..

2) केन्द्र सरकार ने 16 दिसम्बर 2016 को नई आय घोषणा योजना की अधिसूचना आयकर कानून (द्वितीय संशोधन) अधिनियम, 2016 के प्रावधानों के साथ जारी कर दी। यह योजना 17 दिसम्बर 2016 से प्रभाव में आ गई जिसके तहत अघोषित आय (undeclared income) रखने वाले नागरिकों को आय की घोषणा करने का एक और मौका दिया गया है। उक्त योजना के तहत कब तक अघोषित आय की घोषणा की जा सकेगी? – 31 मार्च 2017

विस्तार: आयकर चोरी करने वाले नागरिक केन्द्र सरकार की नई आय घोषणा योजना (new income declaration scheme) के तहत 31 मार्च 2017 तक अपनी अघोषित आय की घोषणा कर सकेंगे। इस आय घोषणा योजना का आधिकारिक नाम “प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना” (‘Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana’) है।

यह अघोषित आय की घोषणा करने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा इस साल लाई गई दूसरी योजना है तथा 8 नवम्बर 2016 को 500 व 1000 रुपए के विमुद्रीकरण के बाद लाई गई ऐसी पहली योजना है। ऐसी पहली योजना 30 सितम्बर 2016 को समाप्त हुई थी तथा इसमें अघोषित आय रखने वाले नागरिकों को अपना काला धन सफेद करने का मौका दिया गया था।

“प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना” के तहत अघोषित आय की घोषणा करने वालों को 30% की दर से कर जमा करना पड़ेगा, इस आय पर 10% का जुर्माना (penalty) देना होगा तथा चुकाए जाने वाले कर पर 33% की दर से “प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना अधिभार” (Pradhan Mantri Garib Kalyan Cess) जमा करना होगा। इससे आयकर की प्रभावी दर लगभग 50% हो जायेगी।

इसके अलावा अघोषित आय की घोषणा करने वालों को अघोषित आय का 25% “प्रधानमंत्री गरीब कल्याण जमा योजना” में 4 वर्ष के लिए जमा कराना होगा जिसपर कोई ब्याज नहीं मिलेगा। इस तरह से सरकार को हासिल होने वाले धन का उपयोग गरीबों के कल्याण से सम्बन्धित योजनाओं पर किया जायेगा।

………………………………………………………..

3) दिव्यांगजनों का अधिकार विधेयक, 2016 को भारतीय संसद ने अपनी मंजूरी प्रदान कर दी जब पहले ही राज्यसभा से स्वीकृत इस विधेयक को 16 दिसम्बर 2016 को लोकसभा ने अपनी स्वीकृति प्रदान कर दी। यह अधिनियम 1995 के विकलांग लोगों के अधिनियम का स्थान लेगा। इस नए विधेयक के तहत विकलांगों की कुल कितनी श्रेणियों को मान्यता प्रदान की गई है? – 21

विस्तार: दिव्यांगजनों का अधिकार विधेयक, 2016 (Rights of Persons with Disabilities Bill, 2016) के तहत दिव्यांगों की कुल 21 श्रेणियों को मान्यता प्रदान की गई है। इसके अलावा केन्द्र सरकार को और श्रेणी के दिव्यांगों को मान्यता प्रदान करने का अधिकार दिया गया है। उल्लेखनीय है कि 1995 के विकलांग लोगों के अधिनियम (Persons with Disabilities Act, 1995) के तहत विकलांगों की कुल 7 श्रेणी को मान्यता प्रदान की गई थी।

नए अधिनियम में बोलने तथा भाषा में असमर्थ तथा समझने की विशिष्ट समस्या को पहली बार विकलांगों की श्रेणी में रखा गया है। इसके अलावा तेजाब हमलों के शिकार लोगों को शामिल किया गया है। बौनापन, मसक्युलर डिस्ट्रॉफी को अलग श्रेणी की विकलांगता में शामिल किया गया है। इसके अलावा तीन रक्त व्याधियों को विकलांगता की परिधि में लाया गया है, जो हैं – थैलीसीमिया, हीमोफीलिया और सिकल सेल रोग।

विकलांगों (दिव्यांगों) को तमाम लाभ जैसे उच्च शिक्षा व सरकारी नौकरियों में आरक्षण, भूमि आवंटन तथा गरीबी उन्मूलन योजनाओं में आरक्षण, आदि प्रदान किए जाने का प्रवाधान उक्त अधिनियम में किया गया है।

………………………………………………………..

4) 17 दिसम्बर 2016 को किसे भारतीय सेना (Indian Army) का अगला प्रमुख (थलसेनाध्यक्ष) नियुक्त किया गया, जिसके बाद इस नियुक्ति को लेकर तमाम विवादों की शुरूआत भी हो गई क्योंकि दो वरिष्ठ अधिकारियों को लांघकर यह नियुक्ति की गई? – ले. जनरल बिपिन रावत (Lt. General Bipin Rawat)

विस्तार: ले. जनरल बिपिन रावत (Lt. General Bipin Rawat) भारतीय थलसेना के 26वें प्रमुख होंगे। 17 दिसम्बर 2016 को उनकी नियुक्ति की घोषणा की गई। वे 1 जनवरी 2017 को अपना पद संभालेंगे तथा सेवानिवृत्त हो रहे जनरल दलबीर सिंह सुहाग (Gen. Dalbir Singh Suhag) का स्थान लेंगे।

लेकिन इस नियुक्ति को लेकर तमाम विवाद भी खड़े हो गए क्योंकि इस नियुक्ति को करते समय केन्द्र सरकार ने दो वरिष्ठ अधिकारियों की वरिष्ठता को नकारा है। ये दो अधिकारी हैं – ले. जनरल प्रवीण बक्शी (Lt. Gen. Praveen Bakshi) और ले. जनरल पी.एम. हरीज़ (Lt. Gen. P. M. Hariz)।

यहाँ यह भी उल्लेखनीय है कि इससे पहले सिर्फ एक बार किसी अधिकारी की वरिष्ठता को दरकिनार कर किसी कनिष्ठ अधिकारी को थलसेनाध्यक्ष नियुक्त किया गया था जब 1983 में ले. जनरल एस.के. सिन्हा (Lt. Gen S.K. Sinha) की वरिष्ठता को दरकिनार करते हुए केन्द्र सरकार ने जनरल ए.एस. वैद्य (Gen. A.S. Vaidya) को थलसेनाध्यक्ष नियुक्त किया था।

ले. जनरल रावत वर्तमान में उप-थलसेनाध्यक्ष हैं। उन्हें 11वीं गोरखा राइफल्स की पाँचवीं बटालियन के माध्यम से भारतीय सेना का अधिकारी बनाया गया था।

………………………………………………………..

5) किसे 17 दिसम्बर 2016 को भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) का अगला प्रमुख नियुक्त किया गया? – एयर मार्शल बी.एस. धनोआ (Air Marshal B.S. Dhanoa)

विस्तार: एयर मार्शल बीरेन्दर सिंह धनोआ (Air Marshal Birender Singh Dhanoa) भारतीय वायुसेना के 22वें प्रमुख होंगे। उन्हें 17 दिसम्बर 2016 को अगला वायुसेनाध्यक्ष नियुक्त किया गया। वे इस वर्ष के अंत में सेवानिवृत्त हो रहे एयर चीफ मार्शल अरूप राहा (Air Chief Marshal Arup Raha) का स्थान लेंगे।

उन्हें वर्ष 1978 में एक लड़ाकू पायलट के रूप में भारतीय वायुसेना में शामिल किया गया था। अपने शानदार करियर के दौरान उन्होंने तमाम लड़ाकू विमानों को उड़ाया है तथा फ्लाइट इंस्ट्रक्टर के रूप में भी कार्य किया है। 1999 के कारगिल युद्ध में उन्होंने न सिर्फ एक लड़ाकू स्क्वाड्रन का नेतृत्व किया था बल्कि स्वयं कई बार रात में विमान उड़ाते हुए खतरनाक पहाड़ियों के ऊपर से उड़ने वाले मिशनों में भाग लिया था। वे वर्तमान में उप-वायुसेनाध्यक्ष हैं।

उप-वायुसेनाध्यक्ष बनने से पूर्व वे दक्षिण-पश्चिम वायु कमान के एयर ऑफीसर कमाण्डिंग इन चीफ थे।

………………………………………………………..

6) भारत की ब्राह्य खुफिया एजेंसी रिसर्च एण्ड एनालिसिस विंग (RAW) का नया प्रमुख किसे नियुक्त किया गया? – अनिल धस्माना (Anil Dhasmana)

विस्तार: अनिल धस्माना रिसर्च एण्ड एनालिसिस विंग (Research and Analysis Wing – RAW) के अगले प्रमुख होंगे। उनकी इस पद के लिए 17 दिसम्बर 2016 को नियुक्ति की गई तथा वे दिसम्बर 2016 के अंत में सेवानिवृत्त हो रहे राजिन्दर खन्ना (Rajinder Khanna) का स्थान लेंगे।

धस्माना मध्य प्रदेश काडर के वर्ष 1981 के आईपीएस अधिकारी हैं तथा वे RAW से पिछले 23 सालों से जुड़े हुए हैं। इस दौरान उन्होंने पाकिस्तान समेत तमाम देशों में महत्वपूर्ण जिम्मेदारियों को संभाला था।

………………………………………………………..

7) 17 दिसम्बर 2016 को किसे भारत के खुफिया ब्यूरो (Intelligence Bureau) का अगला प्रमुख नियुक्त किया गया? – राजीव जैन (Rajiv Jain)

विस्तार: झारखण्ड काडर के IPS अधिकारी राजीव जैन (Rajiv Jain) खुफिया ब्यूरो (Intelligence Bureau) के अगले प्रमुख होंगे। वे वर्तमान में ब्यूरो के विशेष निदेशक के रूप में कार्य कर रहे हैं। वे दिनेश्वर शर्मा (Dineshwar Sharma) का स्थान लेंगे जो 31 दिसम्बर 2016 को सेवानिवृत्त हो रहे हैं।

राष्ट्रपति पुलिस पदक विजेता राजीव जैन ने कश्मीर समेत तमाम महत्वपूर्ण स्थानों पर IB की महत्वपूर्ण जिम्मेदारियाँ निभाई हैं। वे पूर्ववर्ती राजग (NDA) सरकार के समय कश्मीर के मुद्दे पर के.सी. पंत के नेतृत्व में चर्चा कर रहे वार्ताकार दल (interlocutor group) के सलाहकार थे। इस दल ने शब्बीर शाह जैसे चरमपंथी नेताओं से वार्ता की थी।

………………………………………………………..

8) भारत के पेशेवर मुक्केबाज विजेन्दर सिंह (Vijender Singh) ने तंजानिया के किस मुक्केबाज को 17 दिसम्बर 2016 को हुए मुकाबले में हराकर अपने डब्ल्यूबीओ (WBO) खिताब की सफलतापूर्वक रक्षा की? – फ्रांसिस चेका (Francis Cheka)

विस्तार: भारत के स्टार मुक्केबाज विजेन्दर सिंह ने पेशेवर मुक्केबाजी में अपना शानदार सफर जारी रखते हुए 17 दिसम्बर 2016 को उनको चुनौती देने वाले तंजानिया के फ्रांसिस चेका (Francis Cheka) को नॉक-आउट कर अपने WBO एशिया-प्रशांत सुपर मिडिलवेट की रक्षा की।

विजेन्दर ने दस दौर के इस मुकाबले में चेका को तीसरे दौर में ही तकनीकी नॉक-आउट के द्वारा पराजित कर दिया। उल्लेखनीय है कि अक्टूबर 2015 में पेशेवर मुक्केबाज बनने के बाद से उन्होंने अपने सभी आठ मुकाबले जीते हैं जिसमें से सात मुकाबले नॉक-आउट पद्धति से जीते हैं।

………………………………………………………..

| Current Affairs | Current Affairs 2016 | IAS | SBI | IBPS | Banking | Bank PO | Banking Awareness | Daily Current Affairs | Hindi Current Affairs | Hindi GK| करेण्ट अफेयर्स | सामयिकी, समसामायिकी | 2016 समसामायिकी | 2016 करेण्ट अफेयर्स | दिसम्बर 2016 |


Responses on This Article

© Nirdeshak. All rights reserved.