17-18 अप्रैल 2014 का करेण्ट अफेयर्स कैप्स्यूल (CURRENT AFFAIRS – 17-18 APRIL 2014)

17-18 अप्रैल 2014 का करेण्ट अफेयर्स कैप्स्यूल
Site Administrator

Editorial Team

18 Apr, 2014

788 Times Read.

कर्रेंट अफेयर्स,


RSS Feeds RSS Feed for this Article



Read this in: English

canada

1) अंतर्राष्ट्रीय संगठन राष्ट्रकुल (Commonwealth) के किस प्रमुख सदस्य देश ने राष्ट्रकुल सचिवालय (Commonwealth Secretariat) को प्रदान की जाने वाली अपने हिस्से की वित्तीय सहायता को रोकने की घोषणा 14 अप्रैल को श्रीलंका में मानवाधिकार हनन के मुद्दे के मद्देनज़र की? – कनाडा (कनाडा ने घोषणा की कि राष्ट्रकुल सचिवालय ने चूंकि श्रीलंका द्वारा लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम (LTTE) के साथ हुए अपने सशस्त्र संघर्ष के दौरान कथित तौर पर तमाम मानवाधिकार-सम्बन्धी मामलों का जमकर हनन किए जाने के मामले में श्रीलंका के खिलाफ कोई कड़ा कदम नहीं उठाया है। उल्लेखनीय है कि राष्ट्रकुल की अध्यक्षता दो वर्ष के लिए श्रीलंका के पास है। कनाडा सरकार ने यह भी कहा कि स्वतंत्रता, लोकतंत्र तथा मानवीय सम्मान का संरक्षण राष्ट्रकुल के प्रमुख उद्देश्यों में शामिल रहा है और इस नीति पर जोर नहीं दिया जाना संगठन की असफलता का परिचायक है)

…………………………………………….

2) एडमिरल रॉबिन के. धोवन ने 17 अप्रैल 2014 को भारतीय नौसेना के नए प्रमुख का पदभार ग्रहण किया। वे कौन से क्रम के नौसेनाध्यक्ष हैं? – 22वें (उल्लेखनीय है कि धोवन को 26 फरवरी 2014 को नौसेना का कार्यवाहक प्रमुख उस समय नियुक्त किया गया था जब नौसेना की पनडुब्बियों और पोतों में हो रही दुर्घटनाओं के मद्देनज़र नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए तत्कालीन नौसेना प्रमुख देवेन्द्र कुमार जोशी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। एडमिरल धोवन का कार्यकाल 25 माह लम्बा होगा और वे मई 2016 तक नौसेना प्रमुख रहेंगे)

…………………………………………….

3) एक महत्वपूर्ण घटनाक्रम में सर्वोच्च न्यायालय ने 17 अप्रैल 2014 को टेलीकॉम सेवा प्रदत्ता कम्पनियों द्वारा उनके राजस्व खातों की ऑडिटिंग भारत के नियंत्रक तथा महालेखा परीक्षक (CAG) द्वारा कराए जाने के खिलाफ दायर याचिका को खारिज कर दिया। इन टेलीकॉम सेवा प्रदत्ता कम्पनियों ने सर्वोच्च न्यायालय से याचिका की थी कि उच्च-न्यायालय द्वारा द्वारा उनकी ऑडिटिंग कराए जाने के आदेश को वह पलट दे। दूरसंचार विभाग ने सबसे पहले किस वर्ष निजी टेलीकॉम कम्पनियों के खातों की जाँच के लिए CAG से सम्बद्ध ऑडीटर्स की सेवाएं ली थीं? – 2009 में (उल्लेखनीय है कि दूरसंचार विभाग ने से सम्बद्ध ऑडीटर्स की सेवाएं भारती एयरटेल, वोडाफोन इण्डिया लिमिटेड, आइडिया सेल्यूलर लिमिटेड और रिलायंस कम्यूनिकेशन्स लिमिटेड के वर्ष 2006-07 तथा वर्ष 2007-08 के खातों की जाँच के लिए 2009 में पहली बार ली थीं। इसके बाद विभाग ने जून 2012 में पाँच बड़ी टेलीकॉम कम्पनियों के खिलाफ 1,600 करोड़ रुपए के बकाया भुगतान का नोटिस जारी किया था और कहा था कि इन कम्पनियों ने अपने राजस्व को कम करके दिखाया था)

…………………………………………….

4) 16 अप्रैल 2014 को घोषित 61वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों में किस फिल्म को वर्ष 2013 की सर्वश्रेष्ठ फिल्म घोषित किया गया? – ‘शिप ऑफ थीसस’ (यह फिल्म आनंद गाँधी द्वारा निर्देशित पहली फिल्म थी तथा इसका निर्माण किरण राव ने किया था)

…………………………………………….

5) 16 अप्रैल 2014 को 61वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की घोषणा करने वाली 11-सदस्यीय समिति के अध्यक्ष कौन से सुप्रसिद्ध निर्देशक थे? – सईद अख्तर मिर्जा

…………………………………………….

6) पाकिस्तान अपने आयकर दाताओं की डायरेक्ट्री जारी कर आयकर का भुगतान न करने वाले लोगों को शर्मिन्दा करने की मुहिम चलाने वाला विश्व का चौथा देश बन गया है। पाकिस्तान ने 17 अप्रैल 2014 को अपने देश के सभी पंजीकृत आयकर-दाताओं की समस्त आयकर विवरण दर्शाने वाली एक डायरेक्ट्री जारी कर दी। इस प्रकार की मुहिम चलाने वाले अन्य तीन देश कौन से हैं? – स्वीडन, फिनलैण्ड और नॉर्वे (उल्लेखनीय है कि अंतर्राष्ट्रीय ऋण व वित्तीय संस्थाओं के दबाव के चलते पाकिस्तान आयकर-चोरी करने वाले नागरिकों के खिलाफ पिछले कुछ समय से मुहिम चला रहा है। उसके द्वारा जारी आयकर डायरेक्ट्री के माध्यम से जहाँ ससमय आयकर का भुगतान करने वाले लोगों की तारीफ की जायेगी वहीं आयकर-चोरी करने वाले तथा अपनी जीवन-शैली के अनुरूप यथोचित आयकर जमा ने करने वाले लोगों को शर्मिन्दा करने की कोशिश की जायेगी)

…………………………………………….

7) 1 अप्रैल 2014 से लागू नए कम्पनी कानून (कम्पनी कानून 2013) के चलते लगभग 200 सूचीबद्ध कम्पनियों को अपने ऑडिटर्स को आगामी 3 वर्ष के भीतर बदलना होगा। इस नए कम्पनी कानून के अंतर्गत कितने साल में कम्पनियों को अपने ऑडिटर्स को बदलने का प्रावधान किया गया है? – दस साल (उल्लेखनीय है कि कम्पनी कानून 2013 के हाल ही में जारी अनुच्छेद 139 के अनुसार अब कम्पनियों को अपने खातों की जांच करने वाली ऑडिट फर्म को दस साल में बदलना होगा। ऐसा कम्पनियों में अधिक पारदर्शिता बरतने तथा कम्पनी प्रबंधन तथा ऑडिटर्स के बीच कथित तौर पर सुमधुर सम्बन्ध होने की प्रवृत्तियों के मद्देनज़र किया गया है)

…………………………………………….

Responses on This Article

© Nirdeshak. All rights reserved.