15-16 नवम्बर 2017 करेण्ट अफेयर्स

Site Administrator

Editorial Team

16 Nov, 2017

1349 Times Read.

कर्रेंट अफेयर्स,


RSS Feeds RSS Feed for this Article



Read this in: English

1) केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने 14 नवम्बर 2017 को पश्चिम बंगाल (West Bengal) को प्रसिद्ध मिठाई “रोसोगुल्ला” (“Rossogolla”) की विशिष्ठ पहचान से जोड़ते हुए उसे “जियोग्राफिकल इण्डिकेशन” (GI tag) प्रदान किया और यह स्वीकार किया कि इसका आविष्कार यहीं हुआ था। किस राज्य ने वर्ष 2015 में दावा किया था कि रोसोगुल्ला उसका आविष्कार है, जिसे अब खारिज कर दिया गया है? – ओडीशा (Odisha)

विस्तार: पश्चिम बंगाल को एक बड़ी सफलता तब प्राप्त हुई जब पिछले 150 वर्षों से बंगाली समुदाय की जीभ पर चढ़ी स्वादिष्ट मिठाई रोसोगुल्ला को राज्य की एक विशिष्टता (Uniqueness of West Bengal) मान लिया गया। केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने 14 नवम्बर 2017 को रोसोगुल्ला को “जियोग्राफिकल आईडेण्टिफिकेशन्स ऑफ गुड्स रजिस्ट्रेशन” (‘Geographical Indications of Goods Registration’ – GI) टैग प्रदान किया गया जिसमें उसे पश्चिम बंगाल का आविष्कार माना गया है।

पश्चिम बंगाल और ओडीशा के बीच सितम्बर 2015 से एक “रोसोगुल्ला युद्ध” तब छिड़ गया था जब ओडीशा सरकार ने “रोसोगुल्ला दिवस” (“Rossogolla Day”) मनाना शुरू किया था और यह दावा किया था कि यह मिठाई ओडीशा का अविष्कार है। राज्य सरकार ने दावा किया था कि इसका आविष्कार तब हुआ था जब भगवान जगन्नाथ ने अपनी रुठी हुई पत्नी देवी लक्ष्मी को मनाने के लिए रोसोगुल्ला से भरा एक पात्र उन्हें प्रस्तुत किया था।

लेकिन ओडीशा के इस दावे को पश्चिम बंगाल से यह तथ्य देकर अस्वीकार कर दिया था कि यह मिठाई दही वाले दूध से बनाई जाती है जिसे हिन्दू भगवानों को चढ़ाने की परंपरा नहीं है। माना जाता है कि कोलकाता के एक सुप्रसिद्ध हलवाई नोबीन चन्द्र दास (Nobin Chandra Das) ने रोसोगुल्ला का आविष्कार किया था।

……………………………………………………………

2) अपने 13 लाख कर्मचारियों के भारतीय रेल (Indian Railway) जनवरी 2017 से एक व्यापक कौशल-उन्नयन अभियान (‘upskilling exercise”) शुरू करेगी जोकि देश का अब तक का सबसे बड़ा कौशल-विकास कार्यक्रम होगा। इस महात्वाकांक्षी अभियान को क्या नाम दिया गया है? – “प्रोजेक्ट सक्षम” (“Project Saksham”)

विस्तार: “प्रोजेक्ट सक्षम” (“Project Saksham”) उस कौशल-उन्नयन कार्यक्रम को दिया गया नाम है जो भारतीय रेल (Indian Railway) द्वारा अपने सभी श्रेणी के कर्मचारियों के कौशल-विकास के लिए जनवरी 2018 से सितम्बर 2018 तक 9-माह की समयावधि के लिए संचालित किया जायेगा। इस प्रोजेक्ट के तहत चपरासी से लेकर रेलवे बोर्ड सदस्य तक भारतीय रेल के ढांचे के अंतर्गत आने वाले सभी श्रेणी के कर्मचारियों के कौशल उन्नयन के लिए विशेष रूप से तैयार कोर्स मॉड्यूल्स संचालित किए जायेंगे।

इस प्रोजेक्ट की खास बात यह है कि यह भारत में सरकारी कर्मचारियों के लिए संचालित किया जाने वाला अब तक का सबसे बड़ा “कौशल-उन्नयन” कार्यक्रम होगा।

“प्रोजेक्ट सक्षम” के बारे में भारतीय रेलवे बोर्ड अध्यक्ष (Railway Board Chairman) अश्विनी लोहानी (Ashwini Lohani) ने नवम्बर 2017 के दौरान सभी जोन के मुख्य प्रबन्धकों (General Managers) को भेजे गए एक सर्कुलर में जानकारी दी गई। अब सभी मुख्य प्रबन्धक अपेक्षित प्रशिक्षण कार्यक्रम, मॉड्यूल में शामिल किए जाने वाले कर्मचारियों की संख्या तथा तमाम अन्य सम्बन्धित जानकारी रेल मंत्रालय को 31 दिसम्बर 2017 तक उपलब्ध करायेंगे।

……………………………………………………………

3) युवा मामलों एवं खेल राज्य मंत्री राज्यवर्द्धन सिंह राठौर ने 13 नवम्बर 2017 को भारत युवा विकास सूचकांक एवं रिपोर्ट 2017 (India Youth Development Index and Report 2017) जारी की। अपने तरह की इस पहले सूचकांक और रिपोर्ट को किस संस्थान द्वारा तैयार किया गया है? – राजीव गांधी राष्ट्रीय युवा विकास संस्थान (श्रीपेरुम्बुडूर)

विस्तार: भारत युवा विकास सूचकांक एवं रिपोर्ट 2017 (India Youth Development Index and Report 2017) को युवा मामलों एवं खेल राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) कर्नल राज्यवर्द्धन सिंह द्वारा 13 नवम्बर 2017 को जारी किया गया। इस विकास सूचकांक को तैयार करने का मुख्य उद्देश्य देश के समस्त राज्यों में युवा विकास के क्षेत्र में तमाम प्रवृतियों को समझना है। इस सूचकांक के द्वारा युवा मामलों में राज्यों के अच्छे प्रदर्शन तथा खराब प्रदर्शन को संज्ञान में लिया जायेगा, कमजोर प्रदर्शन वाले राज्यों के कारणों को जाना जायेगा तथा इस विषय में नीति-निर्धारकों को सम्बन्धित समस्याओं से अवगत कराया जायेगा।

तमिलनाडु (Tamil Nadu) के श्रीपेरुम्बुडूर (Sriperumbudur) में स्थित राजीव गांधी राष्ट्रीय युवा विकास संस्थान (Rajiv Gandhi National Institute of Youth Development – RGNIYD), जिसे राष्ट्रीय महत्व के संस्थान का दर्जा हासिल है, ने इस सूचकांक और रिपोर्ट को तैयार किया है। सूचकांक व रिपोर्ट को तैयार करने में वर्ष 2014 की राष्ट्रीय युवा नीति (National Youth Policy 2014) तथा राष्ट्रमण्डल की विश्व युवा विकास रिपोर्ट (World Youth Development Report of Commonwealth – 15 – 29 years) में उल्लिखित मापदण्डों का इस्तेमाल कर इसे अधिकाधिक विश्व-स्तरीय बनाने का प्रयास किया गया है।

……………………………………………………………

4) 4 बार फीफा फुटबॉल विश्व कप (FIFA football World Cup) का खिताब जीतने वाली किस देश की टीम 13 नवम्बर 2017 को हुए मुकाबले में बराबरी पर रहने के कारण वर्ष 2018 के फीफा विश्व कप (2018 FIFA World Cup) की दावेदारी से बाहर हो गई? – इटली (Italy)

विस्तार: 2018 में रूस (Russia) में होने वाले फीफा विश्व कप में एक बड़ा उलटफेर तब हुआ जब 4 बार की चैम्पियन टीम इटली (Italy) 13 नवम्बर 2017 को स्वीडन (Sweden) के साथ हुए एक गोल-रहित मुकाबले में बराबरी पर रहकर इस प्रतियोगिता में क्वालीफाई करने से वंछित रह गई। यह वर्ष 1958 के बाद पहला मौका होगा जब इटली की टीम फीफा विश्व कप में भाग नहीं लेगी। वहीं स्वीडन ने इस प्रतिष्ठित खिताब के लिए क्वालीफाई कर लिया। यह विश्व-कप क्वालीफायर मैच मिलान में खेला गया।

इटली को विश्व फुटबॉल जगत की एक दिग्गज टीम के तौर पर जाना जाता है तथा उसने फीफा विश्व कप का खिताब 4 बार – वर्ष 1934, 1938, 1982 और 2006 में जीता है। यह टीम 14 विश्व कप में भाग ले चुकी है तथा इस मामले में इससे ऊपर सिर्फ दो टीमें हैं – ब्राज़ील (20 बार) और जर्मनी (16 बार)।

विश्व कप के लिए क्वालीफाई करने वाली स्वीडन वर्ष 2006 के बाद इस प्रतियोगिता के लिए क्वालीफाई करने में सफल हुई है। 2018 के विश्व कप में कुल 32 टीमें भाग लेंगी जिसमें से 29 टीमें अपना स्थान बना चुकी हैं।

……………………………………………………………

5) भारत में पहली बार आदिवासी उद्यमिता सम्मेलन (Tribal Entrepreneurship Summit) का आयोजन नवम्बर 2017 के दौरान किस स्थान पर किया गया? – दंतेवाड़ा (छत्तीसगढ़)

विस्तार: नीति आयोग (NITI Aayog) ने अमेरिकी सरकार से छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बस्तर क्षेत्र में स्थित आदिवासी बहुल दंतेवाड़ा (Dantewada) में आदिवासी उद्यमिता सम्मेलन (Tribal Entrepreneurship Summit) का आयोजन 14 नवम्बर 2017 को किया। देश में अपने तरह के इस पहले आयोजन में आदिवासियों के विकास तथा उनकी उद्यमिता-सम्बन्धी क्षमताओं पर गहन चर्चा हुई। इस आयोजन में देशभर से आए आदिवासी उद्यमियों के अलावा तमाम विदेशी आदिवासी उद्यमियों ने भी भाग लिया।

……………………………………………………………

| Current Affairs | Current Affairs 2017 | IAS | SBI | IBPS | Banking | Bank PO | Banking Awareness | Daily Current Affairs | Hindi Current Affairs | Hindi GK| करेण्ट अफेयर्स | सामयिकी, समसामायिकी | 2017 समसामायिकी | 2017 करेण्ट अफेयर्स | नवम्बर 2017 |


Responses on This Article

© Nirdeshak. All rights reserved.