13 सितम्बर 2017 करेण्ट अफेयर्स

Site Administrator

Editorial Team

13 Sep, 2017

1167 Times Read.

कर्रेंट अफेयर्स,


RSS Feeds RSS Feed for this Article



Read this in: English

1) दिग्गज अमेरिकी टैक्नोलॉजी कम्पनी एप्पल (Apple Inc.) ने 12 सितम्बर 2017 को अपने तीन नए आईफोन्स (3 new iPhones) पर से पर्दा उठाया तथा आईफोन एक्स (iPhone X) नामक एक बिल्कुल नया क्रांतिकारी फोन भी पेश किया। इस घटना से जुड़ा एक अहम तथ्य क्या था? – एप्पल ने अपने नए उत्पादों को पेश करने के लिए पहली बार स्टीव जॉब्स थियेटर (Steve Jobs Theater) का इस्तेमाल किया

विस्तार: एप्पल (Apple Inc.) ने अपने उत्पादों को पेश करने से सम्बन्धित प्रस्तुतिकरण (unveiling) को 12 सितम्बर 2017 को पहली बार बिल्कुल नए बने स्टीव जॉब्स थियेटर (Steve Jobs Theater) में आयोजित किया। यह थियेटर कैलीफोर्निया के कुपरटीनो (Cupertino) में स्थित कम्पनी के मुख्यालय में स्थित एक पहाड़ी पर बनाया गया है जहाँ से एप्पल के पूरे कैम्पस का नज़ारा देखा जा सकता है। कम्पनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) टिम कुक (Tim Cook) ने पहली बार इस स्थान से अपना प्रस्तुतिकरण दिया।

उल्लेखनीय है कि स्टीव जॉब्स थियेटर का नाम कम्पनी के सह-संस्थापक स्टीव जॉब्स (Steve Jobs) के नाम पर रखा गया है तथा उन्होंने अपनी मृत्यु से पूर्व एप्पल कैम्पस को अद्वितीय बनाने का सपना देखा था। इस थियेटर में एक हजार लोगों के बैठने की जगह है।

इस मौके पर एप्पल ने तीन नए फोन प्रस्तुत किए, जिसमें आईफोन एक्स (iPhone X) नामक नया फोन सबके आकर्षण का केन्द्र रहा। इसे एप्पल फोन्स को पेश करने के दसवें वर्ष में खास तौर पर पेश किया गया। इसके अलावा आईफोन 7 श्रृंखला के दो नए उत्तराधिकारी आईफोन 8 (iPhone 8) और आईफोन 8 प्लस (iPhone 8 Plus) पर से भी पर्दा उठाया गया। आईफोन एक्स की तीन सबसे बड़ी खासियते हैं इसका बेज़ल फ्री डिज़ाइन (यानि कोनों तक स्क्रीन), होम बटन को समाप्त करना और फेस आईसी (Face ID) सिस्टम जिसमें एक अत्याधुनिक कैमरा प्रयोगकर्ता का चेहरा पहचान कर फोन को खोलेगा। इसके 64 GB मॉडल की कीमत 89,000 रुपए रखी गई है जबकि 256 GB मॉडल की कीमत 1,02,000 रखी गई है। इस प्रकार आईफोन एक्स भारत में 1 लाख रुपए से अधिक कीमत वाला पहला पापुलर फोन होगा। इसकी भारत में प्री-बुकिंग 27 अक्टूबर 2017 से शुरू होगी।

……………………………………………………………….

2) सितम्बर 2017 के दौरान भारत के पूँजी बाजार की नियामक संस्था सेबी (SEBI) की म्यूचुअल फण्ड्स से सम्बन्धित एक सलाहकार समिति (Mutual Fund Advisory Panel) ने क्या महत्वपूर्ण सिफारिश की है जिससे म्यूचुअल फण्ड्स योजनाओं की संख्या घट कर आधी रह जाने की संभावना जताई गई है? – म्यूचुअल फण्ड्स के वर्गीकरण की व्याख्या में कड़े नियम

विस्तार: भारत के पूँजी बाजार की नियामक संस्था भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (Securities and Exchange Board of India – SEBI) की म्यूचुअल फण्ड्स से सम्बन्धित एक सलाहकार समिति ने सितम्बर 2017 के दौरान म्यूचुअल फण्ड्स व्यवसाय के बारे में में अपनी रिपोर्ट पेश की। इस रिपोर्ट में की गई एक अहम सिफारिश म्यूचुअल फण्ड्स के वर्गीकरण (classification) से सम्बन्धित है जिसमें कहा गया है कि इस वर्गीकरण की व्याख्या उपयुक्त तरह से म्यूचुअल फण्ड कम्पनियों द्वारा की जानी चाहिए।

इस समिति ने अपनी सिफारिश में कहा है कि म्यूचुअल फण्ड्स योजनाओं को मोटे तौर पर चार वर्गों में बाँटा जा सकता है – इक्विटी, डेब्ट, हाइब्रिड और थीमेटिक। इक्विटी और डेब्ट जैसी योजनाओं को लार्ज कैप और स्मॉल कैप जैसे उप-वर्गों में बाँटा जा सकता है। समिति ने खास तौर पर कहा है एसेट मैनेजमेण्ट कम्पनी (AMC) को हर वर्ग में एक ही योजना पेश करनी चाहिए। इस सिफारिश को लागू करने पर म्यूचुअल फण्ड्स योजनाओं की संख्या कम होने की संभावना है।

……………………………………………………………….

3) भारत की खाद्य नियामक संस्था FSSAI द्वारा 12 सितम्बर 2017 को शुरू किए गए वेब-आधारित देशव्यापी ऑनलाइन प्लेटफॉर्म का क्या नाम है जिसकी मदद से खाद्य पदार्थों के व्यवसाय में खाद्य सुरक्षा एवं स्वच्छता पर नज़र रखने का काम किया जायेगा? – ‘FoSCoRIS’

विस्तार: भारत की खाद्य नियामक संस्था भारतीय खाद्य सुरक्षा व मानक प्राधिकरण (Food Safety and Standards Authority of India – FSSAI) ने 12 सितम्बर 2017 को ‘FoSCoRIS’ नामक एक वेब-आधारित देशव्यापी ऑनलाइन प्लेटफॉर्म शुरू किया है जिसका मुख्य उद्देश्य खाद्य सुरक्षा व इसकी जाँच में अधिकाधिक पारदर्शिता लाना है।

इस नए प्लेटफॉर्म के द्वारा देश में खाद्य सुरक्षा (food safety) व खाद्य व्यवसाय में स्वच्छता के मानकों (hygiene standards) के सम्बन्ध में सरकार द्वारा तय मानकों को लागू करने की स्थिति का बेहतर सत्यापन (verification) संभव होगा। ‘FoSCoRIS’ के द्वारा खाद्य इस क्षेत्र से जुड़े तमाम भागीदारों (stake-holders) जैसे खाद्य व्यवसायों, खाद्य सुरक्षा अधिकारियों, सम्बन्धित अन्य अधिकारियों, राज्य खाद्य सुरक्षा आयुक्तों, आदि को एक देशव्यापी आईटी प्लेटफॉर्म पर एक साथ लाना संभव हो गया है। वहीं इसकी मदद से खाद्य पदार्थों की जाँच, नमूने इकट्ठे करने तथा एकत्रित नमूनों की जाँच के परिणामों को सभी अधिकारियों के साथ आसानी से साझा किया जा सकेगा।

……………………………………………………………….

4) कौन सा बैंकिंग उपक्रम 12 सितम्बर 2017 को बाजार पूँजीकरण (market capitalization) के मामले में टीसीएस (TCS) को पहली बार पछाड़ने में सफल रहा? – एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank)

विस्तार: निजी क्षेत्र का प्रमुख बैंक एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) 12 सितम्बर 2017 को देश की दूसरी सबसे मूल्यवान कम्पनी बन गया। खास बात यह रही कि बाजार पूँजीकरण के मामले में दिग्गज सॉफ्टवेयर कम्पनी टाटा कन्सलटेंसी लिमिटेड (Tata Consultancy Services – TCS) को पहली बार (कुछ देर के लिए) पछाड़ने में सफलता हासिल की।

बीएसई (BSE) द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार 12 सितम्बर 2017 को एचडीएफसी बैंक के शेयर-मूल्य में 0.6% की वृद्धि हुई तथा यह 1,833.75 रुपए के स्तर तक पहुँच गया। इससे कम्पनी का बाजार मूल्य 4.73 ट्रिलियन रुपए (4.3 लाख करोड़ रुपए) पहुँच गया। उस समय TCS का बाजार पूँजीकरण 4.2 ट्रिलियन डॉलर तथा इस प्रकार एचडीएफसी बैंक ने उसे पीछे छोड़ दिया। हालांकि HDFC Bank को यह सफलता थोड़ी देर के लिए ही मिली क्योंकि ट्रेडिंग समाप्त होने तक TCS का बाजार पूँजीकरण 4.6 ट्रिलियन तक पहुँच गया था। लेकिन इसके बावजूद एचडीएफसी बैंक को टीसीएस को पहली बार पीछे छोड़ने में सफलता जरूर मिली।

उल्लेखनीय है कि HDFC Bank इससे पहली भी देश की दूसरी सबसे मूल्यवान कम्पनी बन चुका है जब 11 नवम्बर 2016 को इसने रिलयांस इण्डस्ट्रीज़ लिमिटेड (RIL) को तीसरे स्थान पर ढकेल दिया था। लेकिन यह पहला मौका था जब बैंक ने इस मामले में TCS को पीछे छोड़ा है। वहीं 5.35 ट्रिलियन रुपए के साथ RIL वर्तमान में देश की सबसे मूल्यवान कम्पनी है।

……………………………………………………………….

5) 12 सितम्बर 2017 को तीन T20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों की श्रृंखला के शुरू होने के साथ पाकिस्तान में एक बार फिर अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी हो गई। पाकिस्तान एकादश और विश्व एकादश के बीच हो रहे इस ऐतिहासिक टूर्नामेण्ट का क्या नाम है? – इण्डिपेण्डेंस कप (Independence Cup)

विस्तार: इण्डिपेण्डेंस कप (Independence Cup) तीन T20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों की श्रृंखला से सम्बन्धित टूर्नामेण्ट है जिसका प्रारंभ 12 सितम्बर 2017 को हुआ। इस टूर्नामेण्ट को लाहौर के गद्दाफी स्टेडियम में आयोजित किया जा रहा है तथा इसी के साथ पाकिस्तान में एक बार फिर अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट का आयोजन शुरू हो गया।

उल्लेखनीय है कि वर्ष 2009 में श्रीलंकाई टीम के पाकिस्तानी दौरे के समय लाहौर में श्रीलंका के क्रिकेटर्स को ले जा रही बस पर आतंकी हमला हुआ था जिसमें ये क्रिकेटर बाल-बाल बचे थे। इसके बाद यहाँ अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैचों का आयोजन नहीं हुआ क्योंकि कोई टीम यहाँ आकर खतरा मोल लेना नहीं चाहती थी। उस घटना के बाद पाकिस्तानी आई एकमात्र विदेशी टीम जिम्बाब्वे (Zimbabwe) थी जिसने 2015 में एक द्विपक्षीय श्रृंखला में भाग लिया था।

अब इण्डिपेण्डेंस कप के आयोजन से पाकिस्तान में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी हुई है। इसमें पाकिस्तान एकादश (Pakistan XI) का नेतृत्व सरफराज़ अहमद (Sarfaraz Ahmed) कर रहे हैं जबकि विश्व एकादश (World XI) टीम का नेतृत्व दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेटर एफ. डु प्लेसी (Faf du Plessis) कर रहे हैं।

……………………………………………………………….

| Current Affairs | Current Affairs 2017 | IAS | SBI | IBPS | Banking | Bank PO | Banking Awareness | Daily Current Affairs | Hindi Current Affairs | Hindi GK| करेण्ट अफेयर्स | सामयिकी, समसामायिकी | 2017 समसामायिकी | 2017 करेण्ट अफेयर्स | सितम्बर 2017 |


Responses on This Article

© Nirdeshak. All rights reserved.