12 अगस्त 2017 करेण्ट अफेयर्स

Site Administrator

Editorial Team

12 Aug, 2017

965 Times Read.

कर्रेंट अफेयर्स,


RSS Feeds RSS Feed for this Article



Read this in: English

1) भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) 30 जून 2017 को समाप्त हुए वर्ष के लिए कितना लाभांश (Dividend) केन्द्र सरकार को प्रदान करेगा, जिसकी घोषणा आरबीआई द्वारा 10 अगस्त 2017 को की गई? – 30,659 करोड़ रुपए

विस्तार: भारतीय रिज़र्व बैंक ने 10 अगस्त 2017 को घोषणा की कि वह वर्ष 2017 के लिए केन्द्र सरकार को अपने लाभांश (Dividend) के तौर पर 30,659 करोड़ रुपए का भुगतान करेगा। यह भुगतान राशि पिछले वर्ष किए गए भुगतान के मुकाबले आधे से भी कम है। 30 जून 2016 को समाप्त हुए वर्ष के लिए आरबीआई ने केन्द्र को 65,876 करोड़ रुपए लाभांश के रूप में प्रदान की थी। अब माना जा रहा है कि इस कमी के चलते केन्द्र सरकार की राजकोषीय गणित गड़बड़ा सकती है।

आरबीआई ने लाभांश में इस कमी के पीछे कारणों की जानकारी नहीं दी है लेकिन अर्थशास्त्रियों का मानना है कि इसके पीछे मुख्य कारण आरबीआई को अपनी विदेशी परिसम्पत्तियों से कम रिटर्न हासिल होना, पिछले साल हुए विमुद्रीकरण (demonetization) में हुआ भारी खर्च तथा आरबीआई द्वारा बैंकों में बढ़ी तरलता (liquidity) के प्रबन्धन में अधिक खर्च करना हैं।

…………………………………………………………………………

2) एम. वैंकैय्या नायडू (M. Venkaiah Naidu) ने 11 अगस्त 2017 को देश के 15वें उप-राष्ट्रपति (15th Vice-President of India) के तौर पर शपथ ली। वैसे वे इस पद पर आसीन होने वाले ……….व्यक्ति हैं- 13वें

विस्तार: राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द (President Ramnath Kovind) ने एम. वैंकैय्या नायडू (M. Venkaiah Naidu) को राष्ट्रपति भवन के भव्य दरबार हॉल में 11 अगस्त 2017 को सम्पन्न हुए एक सादे कार्यक्रम में पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। नायडू ने ईश्वर के नाम पर हिंदी में शपथ ली।

उल्लेखनीय है कि वे हालांकि देश के 15वें उप-राष्ट्रपति हैं, लेकिन यदि उप-राष्ट्रपति पद के अभ्यर्थियों की व्यक्तिगत संख्या के आधार पर देखा जाय तो वे 13वें उप-राष्ट्रपति हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि दो उप-राष्ट्रपतियों ने दो-दो कार्यकाल पूरे किए।

वैंकैय्या नायडू के पूर्ववर्ती हामिद अंसारी (Hamid Ansari) ने दो कार्यकाल पूरे किए हैं जबकि देश के पहले उप-राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन (Sarvapalli Radhakrishnan) भी इस पद पर दो बार तैनात रहे।

…………………………………………………………………………

3) लोकसभा ने 10 अगस्त 2017 को भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के सहयोगी बैंकों (associate banks) के उसमें विलय (merger) पर संवैधानिक मुहर लगाने सम्बन्धी एक विधेयक (Bill) को पारित कर दिया जिसे राज्यसभा पहले ही पारित कर चुकी है। इस विधेयक के द्वारा एसबीआई के सहयोगी बैंकों को मान्यता प्रदान करने वाले किस पुराने कानून को समाप्त किया जा रहा है? – एसबीआई (सहयोगी बैंक) कानून 1959

विस्तार: लोकसभा ने 10 अगस्त 2017 को स्टेट बैंक (रिपील एवं संशोधन विधेयक) 2017 (State Banks (Repeal and Amendment) Bill 2017) को अपनी मंजूरी प्रदान कर दी। यह विधेयक राज्यसभा पहले ही पारित कर चुकी है। इस विधेयक के द्वारा वर्ष 1959 के एसबीआई (सहयोगी बैंक) कानून (SBI (Subsidiary Banks) Act 1959) को समाप्त किया जायेगा जिसके द्वारा एसबीआई के सहयोगी बैंक अस्तित्व में आए थे। इसके अलावा स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद कानून 1956 (State Bank of Hyderabad Act 1956) भी इससे समाप्त हो जायेगा। वहीं इससे भारतीय स्टेट बैंक कानून 1955 (State Bank of India Act, 1955) में संशोधन भी हो जायेगा जिससे 5 सहयोगी बैंकों के एसबीआई में विलय को विधिक मान्यता हासिल हो जाए।

उल्लेखनीय है कि 1 अप्रैल 2017 को देश के सबसे बड़े वाणिज्यिक बैंक भारतीय स्टेट बैंक में समूह के 5 सहयोगी बैंकों तथा भारतीय महिला बैंक (BMB) का विलय प्रभाव में आ गया था। ये 5 सहयोगी बैंक थे – स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एण्ड जयपुर, स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद, स्टेट बैंक ऑफ मैसूर, स्टेट बैंक ऑफ पटियाला और स्टेट बैंक ऑफ ट्रावणकोर।

…………………………………………………………………………

4) 11 अगस्त 2017 को केन्द्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (CBFC) के अध्यक्ष (Chairman) पद से पहलाज निहलानी (Pahlaj Nihalani) को हटाकर किसे बोर्ड का अगला अध्यक्ष नियुक्त किया गया? – प्रशून जोशी (Prasoon Joshi)

विस्तार: सुप्रसिद्ध गीतकार एवं विज्ञापन जगत के दिग्गज प्रसून जोशी (Prasoon Joshi) को 11 अगस्त 2017 को केन्द्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (Central Board of Film Certification – CBFC) का नया अध्यक्ष (Chairman) नियुक्त किया गया। इससे पहले जनवरी 2015 से इस पद पर तैनात पहलाज निहलानी (Pahlaj Nihalani) को हटा दिया गया।

45-वर्षीय प्रसून जोशी, जिन्हें वर्ष 2015 में पद्मश्री से सम्मानित किया गया था, वर्तमान में हिंदी फिल्म उद्योग के अग्रणी गीतकार तथा पटकथा-लेखक हैं। उन्हें दो बार सर्वश्रेष्ठ गीतकार का राष्ट्रीय पुरस्कार मिला है – पहली बार “तारे ज़मीन पर” के लिए तथा दूसरी बार वर्ष 2013 में “चिटगाँव” फिल्म के लिए। इसके अलावा उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की महात्वाकांक्षी योजना “स्वच्छ भारत अभियान” के गान की रचना भी की है।

उल्लेखनीय है कि पहलाज निहलानी का केन्द्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड के अध्यक्ष का कार्यकाल काफी विवादास्पद रहा है। उनपर आरोप लगे हैं कि उन्होंने बोर्ड को अपनी व्यक्तिगत जागीर बनाकर रख दिया है। तमाम फिल्मों में बेफिजूल की काट-छांट करने के लिए तथा जबरन नैतिकता थोंपने के आरोप में उनकर जमकर भर्त्सना की गई । वर्ष 2016 में पंजाब में ड्रग्स की समस्या पर बनी फिल्म “उड़ता पंजाब” नामक फिल्म में 89 कट करने के लिए उनपर जमकर उंगलियाँ उठाई गई थीं।

…………………………………………………………………………

5) विश्व एथलेटिक चैम्पियनशिप की पुरुष भाला भेंक स्पर्धा (Men’s Javelin) के फाइनल में पहली बार प्रवेश करने वाला वह भारतीय एथलीट कौन है जिसने विश्व चैम्पियनशिप्स में 10 अगस्त 2017 को यह कारनामा किया? – दविन्दर सिंह कांग (Davinder Singh Kang)

विस्तार: पंजाब के एथलीट दविन्दर सिंह कांग (Davinder Singh Kang) 10 अगस्त 2017 को उस समय चर्चा में आए जब उन्होंने लंदन में चल रही IAAF विश्व चैम्पियनशिप्स की भाला-फेंक स्पर्धा के पुरुष फाइनल में स्थान बनाने में सफल रहे।

84.22 मीटर तक भाला फेंक कर दविन्दर सिंह कांग ने अपने से कहीं ज़्यादा प्रसिद्ध विश्व जूनियर चैम्पियन नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) को पछाड़ा, जो अधिकतम 82.26 मीटर तक ही भाला फेंक पाए। कांग को फाइनल में पहुँचे खिलाड़ियों में 7वाँ स्थान मिला है।

…………………………………………………………………………

| Current Affairs | Current Affairs 2017 | IAS | SBI | IBPS | Banking | Bank PO | Banking Awareness | Daily Current Affairs | Hindi Current Affairs | Hindi GK| करेण्ट अफेयर्स | सामयिकी, समसामायिकी | 2017 समसामायिकी | 2017 करेण्ट अफेयर्स | अगस्त 2017 |


Responses on This Article

© Nirdeshak. All rights reserved.