11-12 जनवरी 2017 करेण्ट अफेयर्स

Site Administrator

Editorial Team

12 Jan, 2017

2190 Times Read.

कर्रेंट अफेयर्स,


RSS Feeds RSS Feed for this Article



Read this in: English

1) भारत के पहले अंतर्राष्ट्रीय एक्सचेंज (international exchange) का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 10 जनवरी 2017 को गुजरात की राजधानी गाँधीनगर में किया। इस एक्सचेंज का नाम क्या है? – इण्डिया आईएनएक्स (India INX)

विस्तार: इण्डिया आईएनएक्स (India INX) भारत के पहले अंतर्राष्ट्रीय एक्सचेंज का नाम है। इसकी स्थापना गांधीनगर (गुजरात) के गिफ्ट सिटी (Gift City) में स्थापित किए गए अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय सेवा केन्द्र में की गई है। यह बीएसई (BSE) के स्वामित्व वाला उपक्रम है तथा इसके द्वारा भारत सिंगापुर व हांग कांग में संचालित किए जा रहे इसी प्रकार के अंतर्राष्ट्रीय एक्सचेंजों को चुनौती देने की मंशा रखता है।

इस एक्सचेंज में औपचारिक ट्रेडिंग 16 जनवरी 2017 से शुरू की जायेगी तथा यहाँ कृषि फ्यूचर्स (agricultural futures) को छोड़कर विभिन्न प्रकार के उत्पादों में ट्रेडिंग की जायेगी जैसे मुद्रा (currency), एक्विटी डिराइवेटिव्स (equity derivatives) तथा कमोडिटीज़ (Commodities)। India INX में शुरुआती दिनों में 22 घण्टे काम किया जायेगा जबकि बाद में इस समयावधि को बढ़ाकर 23 घण्टे प्रतिदिन कर दिया जायेगा। वहीं पहले वर्ष इसमें मुद्रा व एक्विटी डिराइवेटिव्स की ट्रेडिंग पर अधिक जोर दिया जायेगा।

उल्लेखनीय है कि इस प्रकार के अंतर्राष्ट्रीय एक्सचेंज सिंगापुर, दुबई व हांग कांग में पहले से संचालित किए जा रहे हैं तथा इनके माध्यम से लगभग 48 अरब डॉलर का ऑफशोर ट्रेड (offshore) तथा व्यवसाय किया जा रहा है। India INX की स्थापना से भारत इस व्यवसाय में अपनी मजबूत उपस्थिति दर्ज कराना चाहता है।

……………………………………………………

2) भारत के पहले अंतर्राष्ट्रीय एक्सचेंज – इण्डिया आईएनएक्स (India INX) का पहला प्रमुख किसे बनाया गया है? – वी. बालसुब्रह्मण्यम (V. Balasubramanian)

विस्तार: वी. बालसुब्रह्मण्यम (V. Balasubramanian) को 9 जनवरी 2017 को भारत के पहले अंतर्राष्ट्रीय एक्सचेंज – इण्डिया आईएनएक्स (India INX) का पहला प्रबन्ध निदेशक (MD) एवं मुख्य परिचालन अधिकारी (COO) नियुक्त किया गया। वे अभी तक एशिया के सबसे पुराने स्टॉक एक्सचेंज बीएसई लिमिटेड (BSE Ltd.) में मुख्य बिजनेस अधिकारी (CBO) के रूप में तैनात थे।

उल्लेखनीय है कि इण्डिया आईएनएक्स BSE के पूर्ण स्वामित्व वाला उपक्रम है तथा इसके बोर्ड में BSE के सीईओ (CEO) आशीष चैहान (Ashish Chauhan) को अध्यक्ष के रूप में शामिल किया गया है। वहीं आरबीआई के पूर्व उप-गवर्नर आनंद सिन्हा (Anand Sinha) और अर्थशास्त्री अजीत रानाडे (Ajit Ranade) इसके सदस्य हैं।

……………………………………………………

3) अपने निम्न लिंगानुपात (low sex ratio) तथा लैंगिक पक्षपात (gender bias) के लिए कुख्यात रहे हरियाणा (Haryana) राज्य ने हाल ही में लिंगानुपात से सम्बन्धित क्या महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल की है? – यहाँ का जन्म के समय लिंगानुपात पिछले लगभग दो दशकों में पहली बार 900 के आंकड़े को पार कर गया है

विस्तार: हाल ही में प्रकाशित आंकड़ों के अनुसार जनवरी से दिसम्बर 2016 के मध्य हरियाणा में कुल जन्में 5,25,278 बच्चों में 2,76,414 लड़के थे तथा 2,48,864 लड़कियाँ थीं। इस प्रकार यहाँ का जन्म के समय लिंगानुपात (sex ratio at birth – SRB) 914 था। यह राज्य के लिए इसलिए एक बड़ी उपलब्धि थी क्योंकि पिछले लगभग दो दशक में यह पहला मौका था जब यह आंकड़ा 900 को पार कर पाया है।

हरियाणा पुरुष-प्रधान समाज के कारण भीषण लैंगिक पक्षपात का शिकार रहा है तथा कम लिंगानुपात के लिए कुख्यात रहा है। वर्ष 2011 में जब राष्ट्रीय लिंगानुपात आंकड़ा 914 था तब इस राज्य में यह आंकड़ा मात्र 834 था।

उल्लेखनीय है कि इस तथ्य को ध्यान में रखकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यहाँ बालिका भ्रूण हत्या के खिलाफ जनवरी 2015 में पानीपत से “बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ” (“Beti Bachao, Beti Padhao”) नामक महात्वाकांक्षी अभियान शुरू किया था। इस अभियान की लिंगानुपात दर को बेहतर करने में प्रमुख भूमिका मानी जा रही है।

……………………………………………………

4) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) ने वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट 2017 (Vibrant Gujarat Global Summit 2017) का उद्घाटन गांधीनगर में 10 जनवरी 2017 को किया। विश्व भर के निवेशकों को गुजरात में निवेश के लिए आह्वान करने के मुख्य उद्देश्य से प्रति दो वर्ष में आयोजित किया जाने वाले इस सम्मेलन का यह कौन सा संस्करण है? – आठवाँ

विस्तार: गुजरात राज्य सरकार द्वारा देश-विदेश के निवेशकों को राज्य में निवेश करने के लिए आकर्षित करने के उद्देश्य से प्रति दो वर्ष के अंतराल पर आयोजित किए जाने वाले वैश्विक सम्मेलन को “वाइब्रेंट गुजरात” नाम दिया गया है। इस आयोजन के द्वारा गुजरात सरकार दुनिया भर के व्यवसायियों, निवेशकों, कम्पनियों, निगमों, राजनीतिज्ञों, नीति-निर्माताओं को राज्य में व्यावसायिक अवसरों को तलाशने के लिए आकर्षित करती है।

वाइब्रेंट गुजरात राज्य के तत्कालीन मुख्यमंत्री तथा तथा देश के वर्तमान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दिमाग की उपज है तथा इसका आयोजन पहली बार वर्ष 2003 में किया गया था। तब से इसका आयोजन प्रत्येक दो वर्ष के अंतराल पर किया जाता है।

इस बार के “वाइब्रेंट गुजरात” में दुनिया भर के 25 क्षेत्रों के प्रतिनिधि तथा कम्पनियाँ भागीदारी कर रही हैं। उद्घाटन सत्र के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने पूरी दुनिया से आए दिग्गज व्यवसायियों से विभिन्न मुद्दों पर वार्ता की।

……………………………………………………

5) फीफा फुटबॉल विश्व कप के किस वर्ष के आयोजन से इसमें वर्तमान 32 देशों के बजाय 48 टीमों को शामिल किया जायेगा, जिसके बारे में फीफा (FIFA) ने 10 जनवरी 2017 को घोषणा की? – 2026

विस्तार: वर्ष 2026 में आयोजित किया जाने वाला फीफा (पुरुष) फुटबॉल विश्व कप इस मायने में ऐतिहासिक रहेगा क्योंकि इसमें कुल 48 देशों को शामिल किया जायेगा। वर्तमान में दुनिया के चोटी के 32 देशों को इस विश्व-प्रसिद्ध आयोजन में खेलने का मौका दिया जाता है।

इस सम्बन्ध में निर्णय 10 जनवरी 2017 को दुनिया के सर्वोच्च फुटबॉल संगठन फीफा की परिषद (FIFA Council) की बैठक में लिया गया। उक्त बैठक में यह निर्णय भी लिया गया कि 2026 के विश्व कप में कुल 16 ग्रुप होंगे तथा प्रत्येक में 3 टीमों को रखा जायेगा। उल्लेखनीय है कि फरवरी में भ्रष्टाचार के कथित आरोपों में फंसे सैप ब्लाटर (Sepp Blatter) के स्थान पर चुने गए नए फीफा अध्यक्ष जियानी इन्फेन्टीनो (Gianni Infantino) ने अपने चुनाव अभियान के समय ही यह वादा किया था कि वे अधिकाधिक देशों को विश्व कप में खिलाने की कोशिश करेंगे।

हालांकि फीफा में भ्रष्टाचार के आरोपों की जाँच के चलते अभी 2026 के फीफा विश्व कप के मेजबान देश का निर्णय नहीं हो पाया है।

……………………………………………………

6) किस अरब देश का मार्चिंग बैण्ड भारत के आगामी गणतंत्र दिवस की परेड में शामिल होकर इस प्रतिष्ठित राष्ट्रीय समारोह में शामिल होने वाला किसी अरब देश का पहला सैनिक दस्ता बनेगा? – संयुक्त अरब अमीरात (UAE)

विस्तार: संयुक्त अरब अमीरात (United Arab Emirates – UAE) के एक मार्चिंग बैण्ड को भारत के आगामी गणतंत्र दिवस के अवसर पर राजधानी नई दिल्ली में आयोजित होने वाली वार्षिक परेड में भाग लेने का मौका प्रदान किया गया है। इसके साथ ही यह बैण्ड किसी अरब देश का पहला सैनिक दस्ता बनेगा जिसे इस आयोजन में भाग लेने का मौका प्रदान किया गया है।

उल्लेखनीय है कि 2017 की गणतंत्र दिवस परेड संयुक्त अरब अमीरात के युवराज (crown prince) शेख मोहम्मद बिन जायेद अल नहयान (Sheikh Mohammed bin Zayed Al Nahyan) को मुख्य अतिथि बनाया गया है तथा इस अवसर को ध्यान में रखते हुए UAE के एक मार्चिंग दस्ते को यह सम्मान प्रदान किया गया है।

2016 की गणतंत्र दिवस परेड में, जब फ्रांसीसी राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद मुख्य अतिथि थे, एक फ्रांसीसी मार्चिंग बैण्ड को भी परेड में शामिल होने का अवसर प्रदान किया गया था।

……………………………………………………

| Current Affairs | Current Affairs 2017 | IAS | SBI | IBPS | Banking | Bank PO | Banking Awareness | Daily Current Affairs | Hindi Current Affairs | Hindi GK| करेण्ट अफेयर्स | सामयिकी, समसामायिकी | 2017 समसामायिकी | 2017 करेण्ट अफेयर्स | जनवरी 2017 |


Responses on This Article

© Nirdeshak. All rights reserved.